Elections

भीम आर्मी संस्थापक चन्द्रशेखर का हालचाल जानने अस्पताल पहुंची प्रियंका गांधी

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा बुधवार को अचानक मेरठ के एक निजी अस्तपाल में भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर से मिलने पहुंची। उनके साथ कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर और उत्तर प्रदेश के प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंध्या भी मौजूद थे। बता दें चन्द्रशेखर को इस अस्पताल में एक दिन पहले ही भर्ती कराया गया था और प्रियंका गांधी उनका हालचाल जानने आईं थी।

मुलाकात के बाद  मीडिया से बात करते हुए प्रियंका गांधी ने कहा , '' चंद्रशेखर से मिलने के लिए अस्पताल आने में कोई राजनीति नहीं है। मैं इस लड़के से मिलने आई हूं, क्योंकि चन्द्रशेखर का संघर्ष मुझे पसंद आया । उसने अपने लोगों के लिए संघर्ष किया है।'' जब पत्रकारों ने इस मुलाकात के राजनीतिक मायने को लेकर सवाल किए तो प्रियंका बोलीं , '' आप इसका राजनीतिकरण करना चाहते हैं तो कीजिए... मैं सिर्फ चन्द्रशेखर का हाल जानने आई थी।'' 


इसके बाद भीम आर्मी के प्रमुख चन्द्रशेखर ने कहा  'मैं बहुजन समाज के लिए लड़ता हूं। वह कोई राजनीतिक बात करने नहीं आई थीं। ना कुछ पूछ रहीं थीं। '

बता दें कल सहारनपुर- देवबंद में रैली निकालते हुए चन्द्रशेखर की तबियत खराब हो गई थी। उनका रक्तचाप बढ़ गया और सांस लेने में दिक्कत होने लगी जिस पर उन्हें तुरन्त ही एम्बुलेंस से मेरठ के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया।

इधर सहारनपुर- देवबंद पुलिस ने भीम आर्मी के संस्थापक चन्द्रशेखर आजाद सहित 28 लोगों के विरूद्ध नामजद मामला और 150 अज्ञात व्यक्तियों के विरूद्ध मामला दर्ज किया है। पुलिस ने इनके विरूद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 147, 188, 171 एफ, 341, 353 के तहत मामला दर्ज किया है। 

सहारनपुर के एसएसपी दिनेश कुमार पी ने न्यूज एजेंसी को बताया कि इनके विरूद्ध आदर्श आचार सहिता उल्लंघन के तहत कार्रवाई की गई है। 

उन्होंने बताया कि मंगलवार को भीम आर्मी प्रमुख चन्द्रशेखर आजाद और उनके कार्यकर्ता जलूस की शक्ल में मुजफ्फरनगर की ओर जाना चाहते थे जिस पर देवबंद के थानाध्यक्ष सहित एसडीएम और सीओ ने मौके पर पहुंचकर बताया कि आचार संहिता लगी हुई है, इस स्थिति में उन्हें जुलूस रैली निकालते हुए आगे नहीं जाने दिया जायेगा । लेकिन चन्द्रशेखर और उनके समर्थक नहीं माने और जबरदस्ती करने पर प्रशासन को कार्रवाई करनी पड़ी। 

एसएसपी ने बताया कि जिन लोगों ने यातायात अवरूद्ध किया और कानून को अपने हाथ में लेने का प्रयास किया उन सबकी वीडियो रिकार्डिंग पुलिस के पास है और उनके विरूद्ध कार्रवाई की जायेगी। साथ ही बाइक और चार पहिया वाहनों के नम्बर नोट करते हुए उन लोगों के विरूद्ध भी कार्रवाई होगी जिनके नाम से वाहन पंजीकृत हैं। 

गौरतलब है कि मंगलवार को भीम आर्मी संस्थापक चन्द्रशेखर आजाद आदर्श आचार संहिता लगी होने के बावजूद अपने समर्थकों के साथ देवबंद में रैली निकाल रहे थे जिसका प्रशासन ने विरोध किया लेकिन उनके समर्थक नहीं माने। समर्थकों ने मुजफ्फरनगर मेरठ हाइवे जाम कर दिया। महिलाएं सड़कों पर विरोध स्वरूप लेट गईं जिस पर पुलिस ने चन्द्रशेखर को गिरफ्तार कर लिया।

 

DO NOT MISS