PTI
PTI

Elections

वाराणसी से रिकॉर्ड मतों से जीते प्रधानमंत्री मोदी, फिर काशी के नाम दिया ये संदेश

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उत्तर प्रदेश की वाराणसी लोकसभा सीट से रिकॉर्ड मतों से जीत हासिल की।  चुनाव आयोग द्वारा घोषित परिणाम के मुताबिक मोदी ने अपनी निकटतम प्रतिद्वंद्वी सपा—बसपा—रालोद गठबंधन प्रत्याशी सपा की शालिनी यादव को चार लाख 79 हजार 505 मतों से परास्त किया। मोदी को कुल 674664 मत मिले।

वहीं शालिनी को 195159 वोट हासिल हुए। कांग्रेस के अजय राय तीसरे स्थान पर रहे जिन्हें 152548 मत प्राप्त हुए।

मोदी ने जीत के बाद काशी के लोगों का धन्यवाद करते हुए लिखा कि धन्यवाद काशी! इस महान भूमि की सेवा करना मेरे लिए सौभाग्य की बात है। लोकसभा में एक बार फिर काशी का प्रतिनिधित्व करने को लेकर मैं बहुत उत्साहित हूं। काशी के विकास के लिए हम सब मिलकर काम करेंगे। काशी के भाजपा कार्यकर्ताओं ने जो कठिन परिश्रम किया है, इसके लिए उन सबका आभार।

बता दें, मोदी ने 2014 लोकसभा चुनाव दो सीटों..वाराणसी और वड़ोदरा से लड़ा था। दोनों सीटों पर जीत दर्ज करने के बाद उन्होंने बाद में वड़ोदरा सीट छोड़ दी थी। लेथे

इस बार मोदी के मुख्य प्रतिद्वंद्वी राय ही थे जो मुस्लिम वोट मिलने की उम्मीद लगाए बैठे थे। राय भूमिहार समुदाय से हैं और ब्राह्मणों में भी उनकी अच्छी पैठ है। वाराणसी में भूमिहारों और ब्राह्मणों की संख्या अच्छी-खासी है, लेकिन दोनों ही समुदाय परंपरागत रूप से भाजपा के समर्थक रहे हैं।

वाराणसी से प्रियंका गांधी के चुनाव लड़ने की अटकलें लगाई जा रही थी लेकिन पार्टी ने फिर राय को टिकट दिया जो पिछली बार तीसरे स्थान पर रहे थे और उनकी जमानत जब्त हो गई थी । 


अजय राय ने 2014 में भी मोदी के खिलाफ वाराणसी से चुनाव लड़ा था लेकिन वह तीसरे स्थान पर रहे थे। 
राय के राजनीतिक करियर की शुरुआत भाजपा की छात्र इकाई अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के सदस्य के रूप में हुई थी। वह 1996 और 2007 के बीच तीन बार भाजपा के टिकट पर उत्तर प्रदेश विधानसभा के सदस्य बने। 

भाजपा द्वारा 2009 में लोकसभा का टिकट न दिए जाने पर वह समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए थे और बाद में कांग्रेस का दामन थाम लिया।

 उन्हें करीब 75 हजार वोट मिले थे। मोदी ने आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल को करीब 3.75 लाख वोटों के भारी अंतर से मात दी थी।  वह दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल से पीछे थे और जमानत जब्त करा बैठे थे।

वाराणसी सीट से 2014 में मोदी विजयी हुए थे और उन्होंने केजरीवाल को 3.37 लाख वोटों से शिकस्त दी थी। 
 

 

DO NOT MISS