Elections

UAE के बाद रूस ने दिया प्रधानमंत्री मोदी को सर्वोच्च सम्मान

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को गुरूवार को रूस द्वारा ‘आर्डर आफ द सेंट एंड्रू द एपोस्टल’ सम्मान के लिये नामित किया गया । भारत और रूस के द्विपक्षीय संबंधों को प्रोत्साहित करने में उत्कृष्ठ योगदान के लिये मोदी को इस सम्मान के लिये चुना गया । रूसी दूतावास के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी । 

अधिकारी ने बताया कि ‘आर्डर आफ द सेंट एंड्रू द एपोस्टल’ रूस का सर्वोच्च सरकारी सम्मान है ।

रूसी सरकार ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी को दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों को प्रोत्साहित करने में उत्कृष्ठ योगदान के लिये इस सम्मान के लिये चुना गया ।

गौरतलब है कि मोदी को रूस के इस सम्मान के लिये ऐसे समय में नामित किया गया है जब कुछ ही समय पहले उन्हें यूएई से ‘द आर्डर आफ जायेद’ देने की घोषणा की गई थी ।

रूस के एक अधिकारी के अनुसार, आर्डर आफ द सेंट एंड्रू द एपोस्टल’ विज्ञान, संस्कृति और कला के क्षेत्र में काम करने वाले लोगों, शख्सियतों को रूस की समृद्धि और गौरव को प्रोत्साहित करने के लिये उनके उत्कृष्ठ कार्यो के लिये प्रदान किया जाता है ।

यह सम्मान उत्कृष्ठ कार्य करने वाले विदेशी शासनाध्यक्षों को भी प्रदान किया जाता है ।

यह सम्मान पहले चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग, कजाख्स्तान के राष्ट्रपति नुरसुल्तान नजरवायेव तथा अजरबैजान के राष्ट्रपति ग्येदार एलियेव को प्रदान किया जा चुका है ।

बता दें कि ‘आर्डर आफ द सेंट एंड्रू द एपोस्टल’  पुरस्कार की स्थापना 17वीं शताब्दी के अंत में रूस के तत्‍कालीन सम्राट ज़ार पीटर प्रथम ने की थी। इस सम्‍मान को अन्‍य पुरस्‍कारों के साथ अक्‍टूबर 1917 की क्रांति के बाद समाप्त कर दिया गया था। लेकिन, जुलाई 1998 में  रूसी राष्‍ट्रपति बोरिस येल्‍तसिन द्वारा इसे दोबारा शुरू किया गया।  

 

यह भी पढ़े - PM मोदी को मिला UN का सर्वोच्च पर्यावरण पुरस्कार ‘चैंपियंस ऑफ द अर्थ अवार्ड’. . . . 

(इनपुट- भाषा से भी)

 

DO NOT MISS