Elections

PM मोदी ने 'एपी' और 'फैम' को लेकर कांग्रेस पर किया तीखा प्रहार

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

अगस्तावेस्टलैंड हेलीकॉप्टर मामले में दायर आरोप पत्र में आये नाम 'एपी' और 'फैम' को लेकर कांग्रेस पर तीखा हमला करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि बोफोर्स तोपें, हेलीकॉप्टर या हथियारों से संबंधित ऐसा सौदा खोजना मुश्किल है जिसमें इस पार्टी द्वारा कमीशन लेने की खबरें न आती हों ।

उत्तराखंड की पांचों सीटों पर पहले चरण में 11 अप्रैल को हो रहे चुनाव में भाजपा प्रत्याशियों के समर्थन में यहां एक जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कथित हेलीकाप्टर घोटाले में दुबई से गिरफ्तार दलालों से पूछताछ में उन्होंने 'एपी' और 'फैम' का नाम लिया है ।

उन्होंने कहा, ' इटली के मिशेल मामा और दूसरे दलालों से एजेंसियों ने कई हफ्ते पूछताछ की है जिसके आधार पर अदालत में आरोप पत्र दायर किया गया है । इन दलालों ने जिन लोगों को घूस देने की बात कही है उनमें से एक 'एपी' है और दूसरा 'फैम' । इसी में कहा गया है कि एपी का मतलब है अहमद पटेल और फैम का मतलब है फैमिली ।' मोदी ने जनता से सवालिया लहजे में कहा कि सबको पता है कि अहमद पटेल कौन हैं और किस फैमिली के निकट हैं और हेलीकाप्टर की दलाली किसने खाई । 

प्रवर्तन निदेशालय ने बृहस्पतिवार को मिशेल के खिलाफ दिल्ली की एक अदालत में आरोप पत्र दाखिल किया है। इसमें कथित तौर पर गया है कि मिशेल ने ‘एपी’ की पहचान कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल के रूप में की है। बहरहाल, मिशेल ने शुक्रवार को एक अर्जी दाखिल कर दावा किया कि उसने इस सौदे में किसी का नाम नहीं लिया है।

मोदी ने दावा किया कि एक पत्रकार ने जब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से इस आरोपपत्र के बारे में पूछने का प्रयास किया तो उसे धक्का दिया गया। प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘मुझे आज बताया गया कि जब किसी पत्रकार ने इस नामदार से हेलीकाप्टर घोटाले पर कुछ सवाल पूछे तो वह उसे (पत्रकार को) झापड़ मारकर भाग गये।’’ 

मोदी का संकेत इससे पहले पुणे में शुक्रवार को हुई एक घटना की ओर था जिसमें एक टीवी पत्रकार को सुरक्षाकर्मियों ने कार में बैठे राहुल गांधी की ओर बढ़ने पर रोक दिया था। एक वीडियो क्लिप में सुरक्षाकर्मी द्वारा पत्रकार को रोके जाते देखा गया है।

उन्होंने कहा कि जिस परिवार की कभी एयरपोर्ट पर तलाशी लेने की हिम्मत नहीं की जाती थी, गाड़ी विमान की सीढी तक पहुंच जाती थी और सब उन्हें सल्यूट मारते थे, आज वही परिवार जमानत पर बाहर है। 

उन्होंने कहा, 'जो परिवार खुद को भारत का भाग्य विधाता समझता था, वह आज जेल जाने से बचने के लिये सारी तिकड़में लगा रहा है ।' प्रधानमंत्री ने यह भी आरोप लगाया कि देशद्रोहियों और पाकिस्तान को खुश करने का कांग्रेस ने अभियान छेड़ रखा है ।

कांग्रेस के चुनाव घोषणा पत्र को 'ढकोसला पत्र' बताते हुए मोदी ने आरोप लगाया कि कांग्रेस का हाथ जम्मू—कश्मीर में आतंकवादियों, पत्थरबाजों और विभाजनकारी तत्वों के साथ है ।

सत्ता में आने पर सेना और अर्धसैनिक बलों की रक्षा के लिये बने कानून अफस्पा के रक्षा कवच को हटाने का वायदा करने के लिये कांग्रेस की कडी आलोचना करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि यह बात किसी को मंजूर नहीं होगी । उन्होंने कहा,' अगर आप सेना के जवान को रक्षा नहीं दोगे तो कौन मां अपने बेटे को देश के लिये मरने को भेजेगी ।' इस संबंध में मोदी ने कहा,' सिर्फ वोट पाने के लिये यह पाप कर रहे हो आप । लानत है आपकी राजनीति पर ।' उन्होंने कहा कि पाकिस्तान से पैसा लेकर पत्थरबाजों को भड़काने वालों से कांग्रेस बातचीत करना चाहती है । उन्होंने कहा, ' इनसे बातचीत तो छोडो, क्या आप ऐसे लोगों का मुंह भी देखेंगे ।

उन्होंने देशद्रोह की धारा खत्म करने के वादे पर भी कांग्रेस पर तीखा हमला बोला और कहा कि देश के विभाजन की बात करने वाले 'टुकडे—टुकडे गैंग' के लोगों पर क्या देशद्रोह का मुकदमा नहीं चलना चाहिए ।

मोदी ने कहा कि देश का यह चौकीदार आतंकियों को घर में घुसकर मारने, सेना को खुली छूट देने और देश के भीतर के गद्दारों पर कार्रवाई करने की हिम्मत करता है । उन्होंने वहां मौजूद जनता से पूछा, 'आपका यह चौकीदार चलेगा या आतंकियों के आकाओं की पैरवी करने वाले ।' उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस के घोषणापत्र से ‘‘टुकडे—टुकडे गैंग’’ के अलावा पाकिस्तान के लोग भी खुश हैं । उन्होंने कहा कि यहां कुछ लोग ऐसी भाषा बोलते हैं जिससे पाकिस्तान में लोग तालियां बजाते हैं ।

जम्मू—कश्मीर में नेशनल काफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला के कश्मीर में अलग प्रधानमंत्री संबंधी बयान पर चुप्पी साधने के लिये भी प्रधानमंत्री ने कांग्रेस की आलोचना की ।

उन्होंने कहा कि इनके साथी हर रोज कश्मीर को अलग करने की धमकी दे रहे हैं और कश्मीर में अलग प्रधानमंत्री चाहते हैं लेकिन कांग्रेस चुप है । उन्होंने कहा, ' ये कौन लोग हैं ? ये कांग्रेस के गठबंधन के साथी हैं । अगर उनके साथी यह भाषा बोलते हैं और कांग्रेस चुप है तो सजा उन्हें भी मिलनी चाहिए ।' उन्होंने कहा, 'जब तक देश का बच्चा—बच्चा चौकीदार बना रहेगा तब तक भारत की एक इंच जमीन पर भी आंच नहीं आयेगी ।' इस संबंध में हाल में जम्मू—कश्मीर में शहीद हुए उत्तराखंड के जवानों का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि वह हर शहीद परिवार को आश्वस्त करना चाहते हैं कि ‘‘टुकड़े—टुकड़े गैंग’’ की इस साजिश के सामने वह दीवार बनकर खड़े हैं ।

सैम पित्रोदा का नाम लिये बगैर मोदी ने कहा कि दो दिन पहले गांधी परिवार के एक गुरू और मार्गद्रष्टा अमेरिका से विशेष रूप से उन्हें जिताने आये हैं लेकिन उन्हें पता चल गया है कि जिताने की बात तो छोडो, उनकी जमानत भी बचनी मुश्किल है ।

प्रधानमंत्री ने कहा कि गांधी परिवार के इस गुरू ने मध्यम वर्ग को स्वार्थी और लालची बताया है जबकि वह ईमानदार करदाता वर्ग है ।

उन्होंने जनता से कांग्रेस के इस गुरू की बातों को हल्के में न लेने की चेतावनी देते हुए कहा कि इससे पता चलता है कि कांग्रेस के दिमाग में क्या साजिश चल रही है । पित्रोदा ने हाल में एक साक्षात्कार में कहा था कि मध्यम वर्ग पर टैक्स लगाने में कोई बुराई नहीं है ।

मोदी ने जनता से कहा कि अगर वे उनके कामों से संतुष्ट हैं तो इन चुनावों में भाजपा को मत देकर फिर से उन्हें काम करने का मौका दें ।

DO NOT MISS