Elections

राजनीतिक कीमत चुकाने के डर से अजहर पर प्रतिबंध की खुशियां नहीं मना रहा है विपक्ष : अरुण जेटली

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

जैश-ए-मोहम्मद प्रमुख मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र द्वारा वैश्विक आतंकवादी घोषित किए जाने को भारत की बड़ी कूटनीतिक जीत बताते हुए भाजपा ने गुरुवार को कहा कि विपक्षी दल इस उपलब्धि पर खुशियां मनाने से कतरा रहे हैं क्योंकि उन्हें राजनीतिक कीमत चुकाने का डर सता रहा है।

संयुक्त राष्ट्र की प्रतिबंध समिति ने बुधवार को पाकिस्तान से संचालित होने वाले संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित किया।

भाजपा के वरिष्ठ नेता और केन्द्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने संवाददाताओं से कहा कि देश जिसके लिए पिछले 10 साल से प्रयास कर रहा था, मौजूदा सरकार ने उसे कर दिखाया, ‘‘लेकिन वे (विपक्ष) कहते हैं कि, यह तो बस यूं ही है, इसमें बड़ा क्या है।’’ 

पार्टी कार्यालय में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए जेटली ने कहा कि देश में परंपरा थी कि लोग विदेश नीति और राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर एक स्वर में बोलते थे, लेकिन पिछले कुछ साल में इसमें बदलाव आया है।

अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित किये जाने को ‘‘भारत के लिए बड़ी कूटनीतिक उपलब्धि’’ बताते हुए वित्त मंत्री ने कहा , ‘‘अगर भारत जीतता है तो भारतीय जीतता है, लेकिन विपक्ष में कुछ ऐसे दोस्त भी हैं जो इसकी खुशियां नहीं मना रहे क्योंकि उन्हें राजनीतिक कीमत चुकाने का डर सता रहा है।’’ 

संवाददाता सम्मेलन में मौजूद रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित किए जाने का श्रेय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व को दिया।

उन्होंने कहा कि आतंकवाद को बर्दाश्त नहीं किया जाना चाहिए और संयुक्त राष्ट्र की यह घोषणा महत्वपूर्ण है। यह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में विदेश मंत्रालय द्वारा लगातार की गई कोशिशों का नतीजा है।

वहीं मसूद अजहर के अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित किए जाने पर पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा आज UN सुरक्षा परिषद ने आतंकी संगठन JeM के कुख्यात आतंकी मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगा दिया है। मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र द्वारा अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित करने पर आखिरकार विश्व में सहमति बनी, यह संतोष की बात है। देर आए, दुरुस्त आए।

पीएम मोदी ने आगे कहा एक वक्त था जब देश में ऐसी रिमोट कंट्रोल वाली सरकार थी, जिसमें पीएम तक की आवाज उनकी सरकार में ही कोई नहीं सुनता था। आज देश ने देखा है कि यूएन में क्या हुआ। कैसे 130 करोड़ जनता की आवाज पूरे विश्व में दहाड़ रही है ।

पीएम मोदी ने कहा ये है नया भारत और ये है इस नए भारत की ललकार। आज भारत की बात को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता। मैं डंके की चोट पर ये कहना चाहता हूं कि ये तो सिर्फ शुरुआत है। आगे आगे देखिए, होता है क्या।

( इनपुट-भाषा से भी )

 

 

DO NOT MISS