Elections

बीजेपी के संकल्प पत्र पर विपक्ष ने साधा निशाना, बताया- 'झांसा पत्र'

Written By Amit Bajpayee | Mumbai | Published:

लोकसभा चुनावों को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी, अमित शाह, राजनाथ सिंह ने बीजेपी का संकल्प पत्र जारी किया। बीजेपी ने अपने घोषणापत्र का नाम संकल्प पत्र रखा है, इसके कवर पेज पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर है । संकल्प पत्र जारी होते ही प्रमुख विपक्षी पार्टी कांग्रेस सहित विपक्षी दलों ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। 

बीजेपी के संकल्प पत्र पर निशाना साधते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने कूच बिहार में कहा कि 'क्या पीएम ने पश्चिम बंगाल को एक पैसा भी दिया? जो व्यक्ति इस तरह के बड़े दावे करता है, उसे यह देखना चाहिए कि उसने बंगाल के लिए क्या योगदान दिया है। वह पांच साल से विदेशी दौरों में व्यस्त थे और अब उन्हें यहां आने की जरूरत महसूस हुई।' 

ममता बनर्जी ने आगे कहा कि 'भारत में हमने बड़े परिवारों में अलग-अलग धर्मों के लोगों को एक साथ रहते हुए देखा है, लेकिन उन्हें (पीएम मोदी) कैसे पता चलेगा? उसका न तो अपना कोई परिवार है और न ही वह आप लोगों को अपना परिवार समझते हैं।'

इधर संकल्प पत्र पर निशाना साधते हुए कांग्रेस ने कहा कि मोदी आज भी जुमलों की खेती कर रहे हैं। बीजेपी ने अपने घोषणापत्र में रोजगार और नोटबंदी का नाम ही नहीं लिया। काम के नाम पर मोदी नाम के विद्यार्थी की कॉपी कोरी पड़ी है'

वहीं अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकॉप्टर घोटाला मामले में एक सप्लीमेंट्री चार्जशीट में नाम आने के बाद बीजेपी पर कड़ा रुख अखतिहार कर चुके कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने कहा 'बीजेपी के घोषणापत्र और कांग्रेस के घोषणापत्र के बीच साफ अंतर इसके कवर पेज पर देखा जा सकता है। हमारे कवर पर लोगों का समूह है जबकि बीजेपी के कवर पर केवल एक आदमी की तस्वीर है। घोषणापत्र की बजाए बीजेपी को माफीनामे के साथ आना चाहिए था। कांग्रेस/ बीजेपी के घोषणापत्र दोनो को देखिए। कांग्रेस घोषणपत्र में जनता है,बीजेपी में सिर्फ मैं है। झूठ का गुब्बारा है, मेनिफेस्टो की जगह माफीनामा जारी करते तो अच्छा होता।'

इधर आम आदमी पार्टी के समन्‍वयक और दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इसे जुमलों का नया संस्‍करण करार दिया है। 

पीएम मोदी ने कहा कि  'हमारा संकल्प पत्र, सुशासन पत्र भी है. हमारा संकल्प पत्र, राष्ट्र की सुरक्षा का पत्र भी है. हमारा संकल्प पत्र, राष्ट्र की समृद्धि का पत्र भी है।' 

DO NOT MISS