Elections

R. भारत के खुलासे पर भड़के आरोपी महेश नागर, कहा- रॉबर्ट वाड्रा से मेरे सिर्फ कारोबारी संबंध, दस्तावेज जांचने के बाद ही बेची जमीन

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी  के दामाद और प्रियंका गांधी  के पति रॉबर्ट वाड्रा के जमीनी साम्राज्य को लेकर रिपब्लिक भारत ने एक बड़ा खुलासा किया है।  रिपब्लिक भारत की पॉलिटिकल एसआईटी ने  रॉबर्ट वाड्रा के दो सबसे बड़े राजदार महेश नागर और ललित नागर को सबके सामने लेकर आई थी। 

रिपब्लिक भारत ने अपने स्टिंग में दिखाया था कि वाड्रा के 'दलाली मॉडल' का खुलासा किया था।  बताया कि आखिर कैसे गरीबों को लूट कर रॉबर्ट वाड्रा ने करोड़ रुपये कमाए , कैसे गरीबों के साथ सेना के हितों को लूटा। जिसके सबसे बड़े सूत्रधार महेश ने खुद कैमरे पर कूबल किया कि कैसे उनके रॉबर्ट वाड्रा से व्यावसायिक संबंध और कैसे उन्होंने फायदा पहुंचाया।

जब रिपब्लिक टीवी ने महेश से स्टिंग में उनके कबूलानामे को लेकर सवाल किया तो उन्होंने आपने ऊपर लगे आरोपों को खारिज करते हुए स्टिंग को झूठा करार दे दिया।    

यह भी पढे़ं - ऑपरेशन वाड्रा: रॉबर्ट वाड्रा के करीबी का दावा- 'मैं वाड्रा परिवार के लिए दीवार बनकर खड़ा हूं, अगर मैंने बयान बदला, हो सकता है बड़ा नुकसान"

 उन्होंने रिपब्लिक भारत के सवाल का जवाब देते हुए कहा कि मैंने कौन से गरीबो या फौजियों की जमीन ले ली? जो कल इंटरव्यू लेने आए थे, उन्होंने झूठ बोला था कि मैं मैगजीन छपता हूं, हमने जो सच्चाई थी वो बता दी और आपका चैनल पर सब झूठ आ रहा है। 

कम दामों पर जमीन खरीदने के आरोपों को लेकर महेश ने कहा कि कोई कम दामों पर जमीन नहीं ली गई, मैंने कल भी कहा था कि सर्किल रेट से ढ़ेड- दो गुना पर हमनें जमीन खरीदी और आप पर कोई सबूत है तो दिखाते क्यों नहीं?

प्रवर्तन निदेशालय के जांच के दायरे में अपना नाम को लेकर महेश ने कहा कि मेरे पीछे कोई प्रवर्तन निदेशालय की टीम नहीं पड़ी हुई है। 

यह भी पढ़ें - 'ऑपरेशन वाड्रा': R. भारत के कैमरे में कैद रॉबर्ट वाड्रा के करीबियों ने किया बड़ा खुलासा- 'किसानों और फौज की जमीन का कोड़ियों के भाव राबर्ट वाड्रा ने किया सौदा'

जब महेश से वाड्रा परिवार से संबंध को लेकर पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मेरे सिर्फ वाड्रा साहब से संबंध हैं, वो भी व्यापार को लेकर और किसी भी तरह के संबंध नहीं हैं।

DO NOT MISS