Elections 2018


Elections

शरद यादव ने CM वसुंधरा पर किया भद्दा कमेंट, 'ये बहुत 'मोटी' हो गई है, इसको आराम दो'

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

देश के पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के लिए बिगुल बज चुका है. पांच राज्यो में से विधानसभा चुनाव के लिए सिर्फ राजस्थान और तेलंगाना में ही मतदान होना बाकी है. चुनाव के आखिरी दौर की वोटिंग के लिए सभी राजनीतिक पार्टियों ने एड़ी चोटी का जोर लगा दिया है. हर तरफ चुनावी सरगर्मी के बीच अपने-अपने पैंतरें अपनाए जा रहे हैं. कोई चुनाव में अपना दम खम दिखाने के लिए बड़े-बड़े वादे कर रहा है तो कोई जुबानी हमले के बल बूते वोट पाने के लिए दंभ भर रहा है.

राजस्थान में कल यानी 7 दिसंबर को विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग होनी है. बीजेपी और कांग्रेस के बीच कड़ी टक्कर देखी जा रही है. दोनों ही पार्टियों के बीच वार-पलवार का दौर लगातार जारी है.

वार-पलटवार के दरमियान UPA के गठबंधन में शामिल लोकतांत्रिक जनता दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद यादव ने राजस्थान में एक चुनावी सभा के दौरान सभी मर्यादा को ताख पर रख दिया. और वर्तमान मुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी के सीएम पद की उम्मीदवार वसुंधरा राजे के लिए बेहद ही गंदे भाषा का इस्तेमाल किया.

शरद यादव ने CM वसुंधरा राजे पर आमर्यादित टिप्पणी करते हुए कहा, ''और ये वसुंधरा... इसको आराम दो, बहुत धक गई है. ये बहुत 'मोटी' हो गई है. हमारे मध्यप्रदेश की बेटी है. इसको कहो कि आराम करे..''

शरद यादव एक तरफ तो सीएम वसुंधरा को बेटी बुला रहे हैं. और वहीं अपनी इसी टिप्पणी में वो काफी ही शर्मनाक भाषा का इस्तेमाल कर रहे हैं. लाजमी है एक राजनेता का लिए ऐसी भद्दी टिप्पणी करना किसी गंदे करतूत से कम कतई नहीं है. एक महिला के लिए इस तरीके के गंदे भाषा का प्रयोग करने के बाद शरद यादव सवालों से घिर गए हैं. 

इस मसले पर भारतीय जनता पार्टी ने अपने आक्रोश को बयां किया है. बयान से कॉनट्रोवर्सी में घिरे शरद यादव पर बीजेपी नेता शाजिया इल्मी ने करारा पलटवार किया है. शाजिया ने शरद यादव की इस अभद्र टिप्पणी को एक महिला का अपमान करार दिया है. बीजेपी नेता ने कहा कि ये भाषा एक नेता की नीचता का पर्याय है. 

साथ ही शाजिया इल्मी ने शरद यादव पर हमला बोलते हुए कहा कि महिला के शरीर (बॉडी) पर ऐसा कमेंट करना बेहद शर्मनाक है. ऐसी टिप्पणी इस बात को साफ करती है कि वो नारी का सम्मान नहीं करते हैं. ये कोई पहली बार नहीं है जब उन्होंने एक महिला पर ऐसी अभद्र टिप्पणी की है इससे पहले भी उन्होंने स्मृति ईरानी जी पर ऐसे ही भाषा का प्रयोग किया था.

उन्होंने कहा कि शरद यादव के इस रवैये से मैं काफी आक्रोशित हूं.

लाजमी है शरद यादव की ये टिप्पणी न सिर्फ उनके लिए बल्कि UPA गठबंधन के लिए भी परेशानी का सबब बन सकती है.

Below Article Thumbnails
DO NOT MISS