Elections

लालू यादव के दोनों लाल के बीच टिकट को लेकर घमासान, तेजप्रताप ने अपने समर्थक को नामांकन के लिए कहा

Written By Amit Bajpayee | Mumbai | Published:

लोकसभा चुनाव से पहले बिहार के महागठबंधन को बचाने के लिए कवायत के बीच अब राष्ट्रीय जनता दल में दरार आ गया है। आरजेडी सुप्रीमों लालू प्रसाद के दोनों लाल तेज प्रताप और तेजस्वी यादव के बीच टकराव बढ़ गया है। इसी क्रम में तेज प्रताप ने जहानाबाद सीट के चंद्र प्रकाश यादव को 24 अप्रैल को नामांकन दाखिल करने के लिए कह दिया है।  जबकि पार्टी की तरफ से उनके छोटे भाई तेजस्वी यादव ने इस सीट से सुरेंद्र यादव को टिकट दिया है।

लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप ने कहना है कि मैंने जहानाबाद से चंद्र प्रकाश यादव और अनंगेश सिंह को जहानाबाद से टिकट देने को लेकर तेजस्वी जी से अनुरोध किया था, इसके लिए तेजस्वी ने 2 दिन का समय मांगा है। तेज प्रताप ने अपने समर्थकों से कहा भले ही आपको टिकट न मिले आप अपना नामांकन दाखिल करें और मैं आपके लिए प्रचार करूंगा।  

ऐसे में अब तेज प्रताप के इस कदम को पार्टी के अंदर बगावत के तौर पर देखा जा रहा है। दरअसल आज जहानाबाद से चंद्रप्रकाश के समर्थक तेजप्रताप के घर आये थे और प्रदर्शन कर रहे थे। समर्थकों को कहना है कि तेज प्रताप अपने पिता लालू प्रसाद यादव की तरह एक बड़े नेता हैं। तेजस्वी घमंडी हैं और वह अपने कार्यकर्ताओं से भी नहीं मिलते हैं।

इससे पहले जिस तरह के बयान तेज प्रताप की तरफ से आ रहे थे उससे ऐसा लग रहा था कि वे पार्टी के फैसलों से खुश नहीं है। अब आज अपने समर्थक को नामांकन दाखिल करने का आदेश देकर वे खुल कर सामने आ गए हैं। 

बता दें गुरुवार को ततेजप्रताप यादव ने छात्र राष्ट्रीय जनता दल के संरक्षक के पद से इस्तीफा दे दिया है। तेज प्रताप यादव ने ट्वीट कर कहा कि ''छात्र राष्ट्रीय जनता दल के संरक्षक के पद से मैं इस्तीफा दे रहा हूँ। नादान हैं वो लोग जो मुझे नादान समझते हैं। कौन कितना पानी में है सबकी है खबर मुझे । ''

इस मसले पर बात करते हुए राजद विधायक और प्रवक्ता शक्ति सिंह ने रिपब्लिक भारत से कहा था कि तेज प्रताप यादव के इस्तीफा को गंभीरता से नहीं लेना चाहिए । आरजेडी उनकी पार्टी हैं। रुठना और मनाना चलता रहा है।

DO NOT MISS