Elections

नीतीश कुमार का ऐलान- मोदी सरकार में शामिल नहीं होगी JDU, कहा- 'सांकेतिक भागीदारी नहीं चाहिए'

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

भाजपा की सहयोगी पार्टी जनता दल यूनाइटेड मोदी मंत्रिपरिषद में शामिल नही होगी । बिहार के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार ने मीडिया से बात करते हुए इस बात की जानाकारी दी।

जनता दल यूनाइटेड के अध्यश्र ने त्रिपरिषद में शामिल नहीं होने की जानकारी देते हुए कहा कि वो सिर्फ एक ही सांसद को मंत्रिमडल में शामिल करना चाहते थे, लेकिन हमने कहा कि अगर ये सांकेतिक पार्टनरशिप है, तो फिर हमें पार्टी के लोगों से बात करनी होगी। हम NDA के साथ हैं लेकिन सिर्फ सांकेतिक मौजूदगी में में रुचि रखते हैं।

उन्होंने आगे बीजेपी से कोई भी मनमुटाव की बात से इनकार करते हुए कहा कि ऐसा नहीं है कि हम खुश हैं बल्कि हम एक साथ हैं यहीं नहीं हम बिहार में एक साथ सरकार चला रहे हैं और रही बात केंद्र सरकार की तो वहां सांकेतिक मौजूदगी की कोई जरूरत नहीं है।

नीतीश ने आगे अमित शाह के साथ अपनी बातचीत का ब्यौरा साझा करते हुए कहा कि मैं यहां अमित शाह से बात करने के लिए आया था, उन्होंने मुझे यह बताया और मैंने कहा कि हम अपने पार्टी के लोगों के साथ बातचीत करेंगे। उन्होंने मुझे सुबह फोन किया और मैंने अपना बात रखी। हमारे बीच कोई समस्या नहीं है।

इससे पहले जदयू के वरिष्ठ नेता के सी त्यागी ने इस आशय की जानकारी दी। त्यागी ने ‘भाषा’ को बताया, ‘‘ सरकार में शामिल होने के लिये हमारी पार्टी को भाजपा से आमंत्रण मिला था। लेकिन यह सांकेतिक प्रतिनिधित्व जैसा था।’’ 

उन्होंने कहा कि जदयू में इस सांकेतिक प्रतिनिधित्व को लेकर सहमति नहीं है । लिहाजा हम :जदयू: मंत्रिपरिषद में शामिल नहीं हो रहे हैं ।  जदयू के वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘‘ जदयू राजग का हिस्सा बनी रहेगी ।’’ 

उन्होंने कहा कि हमें इसे लेकर कोई नाराजगी नहीं है। हमारे नेता नीतीश कुमार शपथ ग्रहण में जायेंगे । 

गौरतलब है कि बिहार में जदयू भाजपा की मुख्य सहयोगी पार्टी रही है। लोकसभा चुनाव में भाजपा ने 17 सीट और जदयू ने 16 सीटों पर जीत दर्ज की थी । समझा जाता है कि जदयू को मोदी मंत्रिपरिषद में एक स्थान मिल रहा था जो संभवत: राजग की सहयोगी पार्टी को मंजूर नहीं था ।

DO NOT MISS