Elections

राजस्थान में कांग्रेस को बड़ा झटका: हनुमान बेनीवाल की पार्टी RLP और BJP में गठबंधन

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

सत्ता का महासंग्राम यानी लोकसभा चुनाव सिर पर है और इस बी कांग्रेस पार्टी को एक के बाद एक करारा झटका लग रहा है। इस बार कांग्रेस को राजस्थान में मुंह की खानी पड़ी है। दरअसल राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी और हनुमान बेनीवाल की राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (आरएलपी) में गठबंधन हो गया है।

इस गठजोड़ के तहत भाजपा राज्य की 25 में से नागौर की एक सीट आरएलपी के लिए छोड़ेगी। इस सीट पर विधायक बेनीवाल खुद चुनाव लड़ेंगे।

केंद्रीय मंत्री और पार्टी के चुनाव प्रदेश प्रभारी प्रकाश जावड़ेकर और बेनीवाल ने बीजेपी कार्यालय में साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसकी घोषणा की। जावड़ेकर ने बताया कि लोकसभा चुनाव के लिए यह गठजोड़ किया गया है जिसके तहत पार्टी राज्य की नागौर सीट आरएलपी को देगी। बदले में आरएलपी राजस्थान के साथ साथ पड़ोसी हरियाणा, पंजाब, उत्तर प्रदेश व दिल्ली जैसे राज्यों में भाजपा का समर्थन देगी और उसके प्रत्याशियों को जिताने में मदद करेगी।

सवाल के जवाब में बेनीवाल ने स्वीकार किया कि नागौर की सीट से वह खुद चुनाव लडेंगे। भाजपा ने इस सीट के लिए अभी अपने प्रत्याशी की घोषणा नहीं की है।

इस दौरान हनुमान बेनीवाल ने कहा कि सत्ता में रहने पर कांग्रेस ने देश को लूटने का काम किया है। राष्ट्र को बचाने के लिए हमने भाजपा से गठबंधन किया। राजस्थान के साथ सूबे से सटे राज्यों में आरएलपी के लाखों कार्यकर्ता आज से ही नरेन्द्र मोदी जी को प्रधानमंत्री बनाने के लिए जुट जाएंगे।

बता दें, हनुमान बेनीवाल की पार्टी आरएलपी का करीब 9 लोकसभा सीटों पर असर है।

इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि राष्ट्रहित हमारे लिए सर्वोपरि है, नरेन्द्र मोदी जी को प्रधानमंत्री बनाने के लिए हम अपनी ताकत लगा देंगे। मुझे परा विश्वास है राजस्थान की सभी 25 सीटें भाजपा गठबंधन जीतेगा। 

मौके पर मौजूद केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर बोलें कि हमें बहुत खुशी है कि हनुमान बेनीवाल जी की राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी अब हमारे साथ है, हम अब मिलकर काम करेंगे। हमने हनुमान बेनीवाल जी से आग्रह किया है कि वह नागौर से चुनाव लड़ें और अन्य सीटों पर भाजपा का प्रचार करें।

वहीं बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष मदनलाल सैनी ने कहा कि हमने तय किया है कि आरएलपी, एनडीए का एक घटक होगा। हनुमान बेनीवाल जी आगामी लोकसभा चुनाव में हमारे साथ हैं। राजस्थान में हम एक-दूसरे की पूरी मदद करेंगे।

गौरतलब है कि बेनीवाल कभी भाजपा में ही हुआ करते थे। 2008 में वह भाजपा की टिकट से विधायक बने लेकिन 2013 में निर्दलीय के रूप में विधानसभा पहुंचे। 

पिछले दिसंबर में विधानसभा चुनाव से पहले उन्होंने अपनी पार्टी राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी बनायी जिसने तीन सीटों पर जीत दर्ज की। कुछ दिन पहले तक वह कांग्रेस तथा तीसरे मोर्चे के दलों के साथ मिलकर चुनाव लड़ने की बात कह रहे थे।

बेनीवाल ने संवाददाताओं के सवालों के जवाब में कहा कि राष्ट्रहित, किसानों और युवाओं के हितों को ध्यान में रखते हुए उन्होंने भाजपा से हाथ मिलाया है ताकि नरेंद्र मोदी को एक बार फिर प्रधानमंत्री बनाया जा सके।

DO NOT MISS