Elections

AAP के आरोपों पर बोले गौतम गंभीर, आतिशी सबूत दें तो छोड़ दूंगा राजनीति, वरना तैयार रहें मानहानी के मुकदमे के लिए

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

लोकसभा चुनाव 2019 अपने अखिरी मुकाम पर है। दो चरणों का चुनाव बाक़ी है। ऐसे में प्रचार भी ज़ोरशोर से हो रहा है। लेकिन राजधानी दिल्ली में चुनावी शोर ज़ोर पकड़ चुका है। दिल्ली का पारा पहले ही गर्म है रही सही कसर आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति ने कर दी। 

राजधानी की सबसे हॉट सीट माने जाने वाली पूर्वी दिल्ली से आप उम्मीदवार आतिशी बृहस्पतिवार को अपने खिलाफ ‘‘आपत्तिजनक और अपमानजनक’’ टिप्पणियों वाला एक पर्चा पढ़ते समय रो पड़ीं। उन्होंने दावा किया कि उनके प्रतिद्वंद्वी भाजपा के गौतम गंभीर ने निर्वाचन क्षेत्र में ऐसे पर्चे बंटवाये हैं।

आतिशी ने कहा कि "मेरा गंभीर जी से बस एक यही सवाल है के अगर वो मेरे जैसी एक सशक्त महिला को हराने के लिए इतना गिर सकते तो सांसद बनने के बाद वो अपने क्षेत्र की महिलाओं को कैसे सुरक्षित करेंगे।”

आप के इस आरोपों पर अब गौतम गंभीर की तरफ सफाई आई है।   बीजेपी प्रत्याशी ने आप को चैलेंज देते हुए कहा कि यदि उन्हें कोई प्रमाण मिलता है, तो मैं अभी इस्तीफा दे दूंगा और यदि उन्हें 23 तारीख तक एक प्रमाण मिलता है तो मैं उस विशेष दिन को इस्तीफा दे दूंगा। लेकिन अगर अरविंद केजरीवाल को सबूत नहीं मिला तो क्या वह चुनौती स्वीकार करते हैं कि वह 23 तारीख को हमेशा के लिए राजनीति छोड़ देंगे?

उन्होंने आप पार्टी पर मानहानि का केस करने की बात करते हुए कहा कि मैं निश्चित रूप से उनके खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर करूंगा। यदि आपके पास प्रमाण नहीं है तो आप किसी की छवि को धूमिल नहीं कर सकते। मैंने अपने चुनाव प्रचार में अब तक किसी के खिलाफ नकारात्मक बयान नहीं दिया है।

बता दें, उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि पंफलेट को पढ़ते हुए हमें शर्म आ रही है। जब गौतम गंभीर देश के लिए खेलते हुए चौके और छक्के मारते थे, तब हम तालियां बजाते थे। मगर हमने कभी सपने में नहीं सोचा था कि यह आदमी चुनाव जीतने के लिए इस स्तर तक जा सकता है। 

DO NOT MISS