Elections

FULL INTERVIEW : R.भारत पर बोली वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, 'किसानों के लिए हर तरह की मदद के लिए तैयार है सरकार'

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

मोदी सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल का पहला बजट पेश किया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के इस बजट में 2024 को लेकर उनका एजेंडा साफ नजर आया। इस बजट की कई ऐसी खास बातें रहीं।  जिससे संसद में एक के बाद एक तालियों की गड़गड़ाहट तेज और तेज होती गई। 

वित्त मंत्री निर्मला सीतारण ने पहले ही कह दिया था कि ये बजट नहीं बहिखाता है। स्वतंत्र भारत के इतिहास में केंद्रीय बजट पेश करने वाली पहली पूर्णकालिक महिला वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से अगले 6 महीने के लिए सरकार की रूपरेखा को जनता के सामने रखा। 

इसी बीच रिपब्लिक भारत से एक्सक्लूसिव बातचीत में निर्मला सीतारमण ने बजट से जुड़े मुद्दों पर खुलकर बातचीत की। उन्होंने कहा कि इस बजट में हर वर्ग का ख्याल रखा गया है। कोई भी ऐसा व्यक्ति नहीं है जिसे वित्तीय बहिष्करण, सस्ते आवास ऋण जैसी सुविधाएं, मूलभूत ज़रूरतें सुनिश्चित करता हो।

जब वित्त मंत्री से पूछा गया कि  बजट 2019 में एक मध्यम वर्ग के दिमाग में अपने फायदे को लेकर क्या चल रहा है तो उन्होंने जवाब देते हुए कहा कि केंद्रीय बजट को आम आदमी को वित्तीय वर्ष 2019-2020 में प्रदान किए जाने वाले लाभों की एक श्रृंखला सूचीबद्ध की। 

बजट 2019 में एक मध्यम वर्ग के दिमाग में अपने फायदे को लेकर क्या चल रहा है, इस पर सवाल किए जाने पर, निर्मला सीतारमण ने केंद्रीय बजट को आम आदमी को वित्तीय वर्ष 2019-2020 में प्रदान किए जाने वाले लाभों की एक श्रृंखला सूचीबद्ध की।

उन्होंने आगे कहा कि बजट 10 वर्षों के लिए एक दृष्टि निर्धारित करता है। एक दृष्टि जिसमें हम भारत को वृद्धिशील आधार नहीं बल्कि परिवर्तनकारी आधार के रूप में देखते हैं। हमें इतनी बड़ी गति से दौड़ना चाहिए कि जो हम दशकों में नहीं कर पाए, वह हमें अब करना होगा। 

वित्त मंत्री ने आगे विपक्ष के आरोपों पर सवाल उठाते हुए पूछा कि मैं गरीबों पर टैक्स लगा रही हूं? क्या यह बजट गरीबों को  लाभ नहीं दे रहा है? तो ये बताओ कि अमीरों का समर्थन कहां किया जा रहा है? 

आम आदमी को जीएसटी से राहत देना का दावा करते हुए कहा कि जो आम आदमी दिन-प्रतिदिन उपयोग करता है, उस पर से जीएसटी घटाया गया है, हमने काफी कुछ किया है, हम और अधिक कर रहे हैं।

बता दें, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण स्वतंत्र भारत के इतिहास में केंद्रीय बजट पेश करने वाली दूसरी महिला बन गई है।  वित्त मंत्री सीतारमण ने मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट शुक्रवार को लोकसभा में पेश किया। सीतारमण से पहले , पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी केंद्रीय बजट पेश करने वाली अब तक की और एकमात्र महिला थीं। 1970 में गांधी ने वित्त वर्ष 1970-71 का बजट पेश किया था। 

सीतारमण ने 1991 में आर्थिक उदारीकरण के बाद 29 वां (अंतरिम बजट को छोड़कर) बजट पेश किया है। 


 

DO NOT MISS