Elections

DU के शिक्षकों के नाम पर राजनीति, राजीव गांधी के नाम पर अभियान चलाने वाला निकला कांग्रेसी नेता

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:


पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को  एक 'भ्रष्ट' राजनेता कहे जाने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ताजा टिप्पणी पर सियासी तूफान खड़ा हो गया है। जहां एक तरफ राहुल गांधी समेत कई कांग्रेसी नेताओं से प्रधानमंत्री की टिप्पणी पर सख्त ऐतराज जताया हैं, वहीं अब दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) के दो सौ से ज्यादा शिक्षकों के हस्ताक्षर वाली एक चिट्ठी सामने आई हैं जिसमें दावा किया जा रहा है कि राजीव गांधी पर पीएम मोदी की टिप्पणी की निंदा की है। 

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सैम पित्रोदा ने मंगलवार को ट्वीट कर दावा किया था कि डीयू के शिक्षकों ने अपने असल हस्ताक्षर के साथ बयान जारी कर राजीव गांधी पर पीएम मोदी की टिप्पणी की निंदा की है। 

लेकिन कहानी में ट्विस्ट तब आया जब चिट्ठी को लेकर नई बात सामने आई कि दरअसल प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ डीयू में मुहिम चलाने के पीछे एक कांग्रेसी पार्टी से जुड़े शिक्षक का हाथ है। दरअसल आदित्य नारायण मित्रा नाम के इस शिक्षक ने डीयू के अंदर पीएम मोदी के खिलाफ इस मुहिम को प्रायोजित किया और देश को ये दिखाने की कोशिश की गई कि ये डीयू के शिक्षकों ने खुद से पीएम मोदी के बयान की निंदा की है।

बता दें, कांग्रेस नेता द्वारा ट्वीट की गई चिट्ठी में लिखा, ‘‘नरेंद्र मोदी ने दिवंगत राजीवजी के बारे में अपमानजनक एवं असत्य टिप्पणी करके प्रधानमंत्री पद की गरिमा को कम किया है, जिन्होंने राष्ट्र की सेवा में अपना सर्वोच्च बलिदान दिया था।’’ इसमें कहा गया है कि कोई प्रधानमंत्री कभी भी इतने नीचे स्तर पर नहीं पहुंचा जितना मोदी अपने कार्यों से पहुंच चुके हैं।

बयान में कहा गया है कि राष्ट्र, पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की उपलब्धियों की प्रशंसा करता है। इसमें करगिल हमले में बोफोर्स तोपों के इस्तेमाल के समय जवानों की प्रसन्नता एवं संचार क्रांति का उल्लेख करके इसका श्रेय राजीव गांधी को दिया गया है। 

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी ने शनिवार को एक चुनावी रैली में राहुल के दिवंगत पिता पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी का नाम लिये बगैर कहा 'आपके पिताजी को आपके राज दरबारियों ने गाजे-बाजे के साथ मिस्टर क्लीन बना दिया था। लेकिन देखते ही देखते भ्रष्टाचारी नम्बर 1 के रूप में उनका जीवनकाल समाप्त हो गया।’’ 

जिस पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने  रविवार को ‘‘प्यार और झप्पी के साथ’’ उन्हें जवाब देते हुए कहा कि ‘‘मोदी जी, लड़ाई खत्म हो गई है। आपके कर्म आपका इंतजार कर रहे हैं।’’ 

प्रधानमंत्री की इस टिप्पणी का जवाब देते हुए राहुल ने ट्वीट किया, ‘‘मोदी जी, लड़ाई खत्म हो गई है। आपके कर्म आपका इंतजार कर रहे हैं। आपके अपने खुद के अंदर की धारणा मेरे पिता पर थोपना आपको नहीं बचा पाएगा। आपको ढेर सारा प्यार और गले लगाता हूं।’’ 

 

DO NOT MISS