Elections

पश्चिम बंगाल में मतदान के दौरान हिंसा, टीएमसी-कांग्रेस कार्यकर्ताओं के झड़प के दौरान एक कांग्रेस कार्यकर्ता की मौत

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

पश्चिम बंगाल में हो रहे लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण के मतदान को रोकने के लिए उपद्रवियों ने जमकर हंगामा काटा। आज हो रहे मतदान के दौरान मुर्शिदाबाद के रानीनगर इलाके में बदमाशों ने पोलिंग बूथ के पास देसी बम मारे गए और वोटरों को डराने का प्रयास किया। इस दौरान टीएमसी - कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हो गई और इस घटना में एक कांग्रेस कार्यकर्ता की मौत हो गई है। 

पश्चिम बंगाल में चुनाव के दौरान कड़े सुरक्षा इंतजामों के बावजूद यहां मतदान को प्रभावित करने की कोशिश की जा रही है।  मंगलवार सुबह 7 बजे जैसे मतदान शुरू हुआ तो वोटरों की लंबी कतार देखने को मिली। लेकिन  दिन ढलते -ढ़लते  लगभग 10 बजे तक माहौल पूरी तरह से बदल गया और अचानक हिंसा बढ़ गई।

जानकारी के अनुसार सबसे पहले मुर्शिदाबाद के डोमकाल इलाके में हिंसा हुई, जहां दो गुटों में भीषण झड़प हुई। इस दौरान एक कांग्रेसी कार्यकर्ता की मौत हो गई।

बदमाश यहीं नहीं रुके उन्होंने कई और इलाके में मतदान को प्रभावित करने के लिए देसी बम फेंके। इनका मकसद वोटरों को डरा कर वापस भगाना था, बम फेंक ये सभी भाग गए। ये उपद्रवी किसी राजनीतिक दल या गुट से थे, अभी इसका पता नहीं चल सका है। 

हालांकि, लगातार हिंसा की खबरों के बाद पोलिंग बूथों के आस-पास सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है। रानीनगर के अलावा मालदा इलाके में भी हिंसा की खबरें हैं ।

बता दें पहले दोनों चरण में हुई छुटपुट हिंसा को देखते हुए इस बार सुरक्षाबल पहले से ज्यादा अलर्ट हैं। पहले चरण में पश्चिम बंगाल की दो सीटों अलीपुरद्वार और कूच बिहार में मतदान हुआ था और दोनों ही बूथों से हिंसा की खबरें आई थीं। मतदान के दौरान कुछ इलाकों में बम फेंके गए थे। बीजेपी और तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झड़प हो गई थी। जिसमें कुछ कार्यकर्ताओं को चोट भी आई थी।

DO NOT MISS