Elections

लोकसभा चुनाव 2019: राजस्थान में सीटों पर मजबूत प्रत्याशी की तलाश में कांग्रेस और BJP

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

लोकसभा चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस और भाजपा ने राजस्थान की 25 में से 19 सीटों के लिए अपने अपने प्रत्याशी घोषित कर दिए हैं और अब वे बाकी बची छह सीटों पर मजबूत प्रत्याशी की तलाश में हैं जो पार्टी को जीत दिला सकें ।

राजनीतिक सूत्रों के अनुसार भाजपा में जहां बाकी बचे प्रत्याशियों के लिए आंतरिक खींचतान जारी है, वहीं कांग्रेस भी जिताऊ उम्मीदवारों की तलाश कर रही है ।

राज्य में लोकसभा चुनाव दो चरणों में होने हैं । पहले चरण में 13 सीटों के लिए 29 अप्रैल को चुनाव होगा । इनमें कांग्रेस ने अजमेर, झालावाड़, भीलवाड़ा व राजसमंद सीट के लिए प्रत्याशी की घोषणा नहीं की है जबकि भाजपा ने बाड़मेर व राजसमंद सीट के लिए अपना उम्मीदवार तय नहीं किया है ।

यह भी पढ़ें - राजस्थान में मिली जीत दोहराएगी कांग्रेस, 'आजीविका' के मुद्दे पर लड़ेंगे चुनाव: सचिन पायलट

भाजपा ने अपनी पहली दो सूचियों में कुल मिलाकर 19 सीटों के लिए प्रत्याशी घोषित किए हैं जिनमें एक भी महिला का नाम नहीं है ।

पार्टी नेताओं ने कहा कि दौसा सीट पर प्रत्याशी को लेकर भाजपा के राज्यसभा सदस्य किरोड़ी लाल मीणा और निर्दलीय विधायक ओम प्रकाश हुडला की राजनीतिक दुश्मनी के चलते उम्मीदवार का फैसला नहीं हो रहा है । कांग्रेस ने यहां पार्टी के विधायक की पत्नी सविता मीणा को उतारा है जिनका यह पहला चुनाव होगा ।

उन्होंने कहा कि नागौर सीट पर केंद्रीय मंत्री सी आर चौधरी को स्थानीय प्रतिनिधियों के विरोध का सामना करना पड़ रहा है ।

वहीं राजसमंद सीट के लिए दोनों ही पार्टियों ने अपने प्रत्याशी घोषित नहीं किए हैं । भाजपा के मौजूदा सांसद हरिओम सिंह राठौड़ ने स्वास्थ्य कारणों का हवाला देते हुए चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया है । भाजपा की ओर से पूर्व विधायक दीयाकुमारी का नाम लंबे समय से चर्चा में है ।

भरतपुर, करौली धौलपुर और बाड़मेर सीटों पर भी भाजपा ने अपने प्रत्याशी अभी घोषित नहीं किए हैं । कांग्रेस ने इन सीटों पर क्रमश: अभिजीत कुमार, संजय कुमार और मानवेंद्र सिंह को उतारा है । राज्य में चुनाव 29 अप्रैल और छह मई को होने हैं ।