Last Updated:

पंजाब सरकार भाजपा उम्मीदवारों को प्रचार से रोकने के लिए प्रदर्शन करवा रही है: अश्वनी शर्मा

शर्मा ने सोमवार को नवांशहर की अपनी यात्रा रद्द कर दी क्योंकि वहां कुछ किसानों ने उस स्थल का घेराव किया, जहां वह सभा करने वाले थे।


भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की पंजाब इकाई के अध्यक्ष अश्वनी शर्मा ने मंगलवार को अमरिंदर सिंह नीत सरकार पर 14 फरवरी को होने वाले नगर निकाय चुनाव में उनकी पार्टी के उम्मीदवारों को प्रचार करने से ‘रोकने’ के लिए किसान आंदोलन की आड़ में प्रदर्शन कराने का आरोप लगाया।

शर्मा ने कहा कि राज्य में कांग्रेस नीत शासन द्वारा लोकतंत्र को ‘बधंक’ बनाया जा रहा है।

उन्होंने नवांशहर में उनके विरूद्ध आयोजित किये गये प्रदर्शन के बारे में पूछे जाने पर कहा, ‘‘ नामांकन पत्र दाखिल करने की आजादी नहीं है। कई स्थानों पर हमारे उम्मीदवार निगम चुनाव के वास्ते घर-घर जाकर प्रचार नहीं कर पा रहे हैं। ’’

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने कहा, ‘‘प्रदर्शन आयोजित किये जा रहे हैं। ये सरकार प्रायोजित प्रदर्शन हैं.. अमरिंदर सिंह नीत सरकार द्वारा लोकतंत्र को ‘बधंक’ बनाया जा रहा है।’’

शर्मा ने सोमवार को नवांशहर की अपनी यात्रा रद्द कर दी क्योंकि वहां कुछ किसानों ने उस स्थल का घेराव किया, जहां वह सभा करने वाले थे।

अन्य भाजपा नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री विजय सांपला को भी मोगा में प्रदर्शन का सामना करना पड़ा।

किसान नेताओं ने कहा कि जबतक केंद्र नये कृषि कानून वापस नहीं लेता तबतक वे भाजपा नेताओं का विरोध जारी रखेंगे।

शर्मा ने कहा, ‘‘ हमारे उम्मीदवारों को धमकियां दी जा रही हैं। उन्हें प्रचार नहीं करने और कार्यालय बंद करने का कहा गया है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘राज्य चुनाव आयोग मूकदर्शक बना हुआ है। उसे नजर नहीं आता कि राज्य में क्या हो रहा है।’’

राज्य में आठ नगर निगम, 109 नगर परिषदों एवं नगर पंचायतों के लिए 14 फरवरी को चुनाव है।

First Published: