Elections

चंद्रबाबू नायडू ने प्रशांत किशोर को बताया 'बिहारी डाकू', कहा - 'साइबर अपराध कर रहे हैं'

Written By Amit Bajpayee | Mumbai | Published:

आंध्र प्रदेश में लोकसभा चुनाव के साथ- साथ विधानसभा चुनाव भी होने वाले हैं। लिहाजा सियासी गरियारों में बयानबाजी भी चरम पर है। ऐसे में आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू ने वाईएसआर कांग्रेस के नेता जगनमोहन रेड्डी का प्रचार-प्रसार देख रहे चुनावी रणनीतिकार और जनता दल यूनाइटेड के उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर के खिलाफ गंभीर आरोप लगाते हुए दावा किया है कि आंध्र प्रदेश के लाखों वोटरों का नाम किशोर ने हटा दिया है। उन्होंने  प्रशांत किशोर को बिहारी डकैत तक कह डाला । 

एन. चंद्रबाबू नायडू ने आरोप लगाया कि , ' केसीआर राव आपराधिक राजनीति कर रहे हैं। वह कांग्रेस और टीडीपी के विधायकों को साधने की कोशिश कर रहे हैं। बिहारी डकैत प्रशांत किशोर ने आंध्र प्रदेश के लाखों वोट हटा दिए । वह साइबर अपराध कर रहे हैं '

तो वहीं प्रशांत किशोर ने भी नायडू के बयान को बिहारी अस्मिता से जोड़ते हुए कहा कि हार से परेशान एक अनुभवी नेता की अपमानजनक भाषा बिहार के खिलाफ पूर्वाग्रह और द्वेष को दिखाती है। नायडू के इसी बयान पर प्रशांत किशोर ने ट्वीट पर जवाब देते हुए लिखा, 'आसन्न हार सबसे अनुभवी राजनेताओं को भी परेशान कर सकती है. इसलिए मैं चंद्रबाबू नायडू के आधारहीन आरोपों से हैरान नहीं हूं. सिर जी अपमानजनक भाषा का प्रयोग करने के बजाय, जो बिहार के खिलाफ आपके पूर्वाग्रह और द्वेष को दिखाता है, बस इस बात पर ध्यान दें कि आंध्र प्रदेश के लोग आपको फिर से क्यों वोट दें.'

आपको बता दें जहां वाईएसआर कांग्रेस की तरफ से सबसे ज्यादा नाम हटाने के लिए चुनाव आयोग से आवेदन किया था । तो वहीं चंद्रबाबू नायडू इसे वाईएसआर कांग्रेस की साजिश करार देते हुए इसका आरोप प्रशांत किशोर पर मढ़ रहे हैं। बता दें राजनीतिक चाणक्य प्रशांत किशोर इन दिनों वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के नेता जगनमोहन रेड्डी के प्रचार का काम देख रहे हैं।

DO NOT MISS