Elections

भाजपा ने जींद उपचुनाव 12,000 से अधिक मतों से जीता

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

जींद -  हरियाणा में सत्तारूढ़ भाजपा के उम्मीदवार कृष्ण मिड्ढा ने जींद विधानसभा के लिए हुए उपचुनाव में अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी जननायक जनता पार्टी के उम्मीदवार दिग्विजय सिंह चौटाला को 12,000 से अधिक मतों से शिकस्त दी। वहीं, कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला को उपचुनाव में बड़ा झटका लगा है। 

भाजपा ने यह सीट मुख्य विपक्षी दल इनेलो से छीनीं है। जींद के उपायुक्त सह निर्वाचन अधिकारी अमित खत्री ने बताया कि मिड्ढा ने यह चुनाव 12,935 मतों के अंतर से जीता है। 

कांग्रेस ने अपने वरिष्ठ नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला को उम्मीदवार बनाया था। वह तीसरे नंबर पर रहे। इनेलो विधायक हरिचंद मिड्ढा के निधन से यह सीट रिक्त हुई थी।

बता दें सुबह 8 बजे के बाद मतगणना शुरू हुई। काउंटिंग कुल 13 राउंड के लिए 14 टेबल लगाई गई हैं। मिली जानकारी के मुताबिक कुल 21 उम्मीदवार मैदान में हैं। जिन्होंने चुनावी मैदान में अपनी किस्मत आजमाई है, लेकिन कांटे की टक्कर JJP के दिग्विजय चौटाला, BJP के कृष्ण मिड्ढा और कांग्रेस के रणदीप सिंह सुरजेवाला के बीच मानी जा रही थी।

यहां 28 जनवरी को वोटिंग हुई और कुल 75.77 फीसदी वोटरों ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया था। जींद उपचुनाव और रामगढ़ उपचुनाव के लिए ईवीएम में बंद उम्मीदवारों की किस्मत का आज फैसला होगा। 

यह भी पढ़े- जींद, रामगढ़ उपचुनाव: सत्ता के महामुकाबले से पहले उपचुनाव में किसका बजेगा डंका?, देखें- LIVE UPDATE

अगर जींद की बात करें तो 1,72,774 मतदाताओं में से 1,30,824 ने मताधिकार का प्रयोग किया था। शहरी क्षेत्र में 72 प्रतिशत और ग्रामीण क्षेत्र में 87 प्रतिशत मतदान हुआ था। जींद के इतिहास में चौथी बार 75 फीसदी से ज्यादा मतदान हुआ है। इससे पहले यहां साल 1987 में 76.28 प्रतिशत मतदान हुआ था। 

जींद विधानसभा उपचुनाव की मतगणना से मिले रुझानों के बीच मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने कहा कि इस चुनाव का असर लोकसभा चुनाव पर रहेगा। हमें दस की दस सीटें जीतने का विश्वास है। लोकसभा के साथ विधानसभा चुनाव करवाए जाने की संभावना पर मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारा एक साथ चुनाव कराने का कोई विचार नहीं लेकिन, अगर केंद्र से कोई निर्देश आएगा तो फिर देखा जाएगा। 

DO NOT MISS