Elections

रिपब्लिक भारत के खुलासे पर बोले अमित शाह - 'सरकार की नीयत गलत नहीं, जांच एजेंसियां अपना काम करेगी'

Written By Amit Bajpayee | Mumbai | Published:

लोकसभा चुनाव के दो चरण बाकी हैं और उससे पहले रिपब्लिक भारत के कैमरे में रॉबर्ट वाड्रा के करीबियों का वह काला सच कैद हुआ है। जिसे देखकर आप भी चौक जाएंगे। रिपब्लिक भारत की पॉलिटिकल SIT टीम ने रॉबर्ट वाड्रा के जमीन की खरीद-फरोख्त में धोखाधड़ी के मामले में सनसनी खेज खुलासा किया है। 

जिस वक्त गरीबों की जमीन को फरेब से अपने नाम करने के मामले में रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ ईडी की पूछताछ चल रही थी। उस वक्त रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क की टीम सच को सामने लाने के लिए राष्ट्रहित के अपने मिशन पर जुटी थी और इस सिलसिले में हम मिले उन दो भाईयों से जो वाड्रा का सबसे बड़ा राजदार था। महेश नागर और ललित नागर। दो भाई जो देश भर में वाड्रा के जमीन सौदों का सूत्रधार थे। वाड्रा के जमीन सौदों के गोरखधंधे की वजह से दोनों ईडी के जाल में फंसे हुए हैं। ललित नागर आज कांग्रेस के विधायक हैं और महेश नागर राजस्थान और हरियाणा में  वाड्रा के जमीन सौदों के सबसे बड़े राजदार हैं। उन्होंने रिपब्लिक भारत के खुफिया कैमरे के सामने वह सारे सच उगले जिन्हें सुनकर आपके पैरों तले से जमीन खिसक जाएगी ।

इस खुलासे पर बीजेपी अध्यक्ष ने कांग्रेस पार्टी पर जमकर हमला बोला । उन्होंने रिपब्लिक भारत से बात करते हुए कहा कि '' इसकी जांच चल रही है। जांच एजेंसियां ही इसकी जांच करे तो ज्यादा अच्छा है। अगर आप के पास जो कुछ भी इनपुट है उसे जांच एजेंसियों को देशहित में देनी चाहिए।  

अमित शाह ने कहा हम अपनी जगह पर कायम है। हम राजनीतिक प्रतिशोध में कोई काम नहीं करेगें। जांच एजेंसियां स्वत्रंत तरिके से अपना काम कर रही है। जो भी सुचना है उसे देशहित में जांच एजेसिंयो को दे दनी चाहिए। 


वहीं रिपब्लिक भारत के खुलासे पर जब राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से सवाल किया गया तो उन्होंने कहा मैं रॉबर्ट वाड्रा नहीं हूं मामले की जांच चल रही है। 

इससे पहले बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि  वाड्रा सस्ते में जमीन खरीदते थे। उनकी गिरफ्तारी हो और इस स्टिंग में जितने भी लोग है उनके बयान दर्ज होने चाहिए'


रिपब्लिक भारत के खुलासे पर केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा ने कहा कि 'रॉबर्ट वाड्रा आकंठ तक भ्रष्टाचार में डूबे हुए हैं'


 

DO NOT MISS