Elections

भाजपा का डर दिखाकर वोट मांग रही है कांग्रेस: असदुद्दीन ओवैसी

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

ऑल इंडिया मज्लिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष असदुद्दीन औवेसी ने शनिवार को कहा कि कांग्रेस मुसलमानों को भाजपा का डर दिखाकर वोट मांग रही है जबकि उसके शासन में ही भागलपुर के दंगे और बाबरी मस्जिद के परिसर को खोलने जैसे अत्याचार हुए थे।

मुस्लिम बहुल संसदीय सीट किशनगंज में अपनी पार्टी के उम्मीदवार की रैली को संबोधित करते हुए हैदराबाद के तेजतर्रार सांसद औवेसी ने कहा,‘‘ मैंने आप लोगों को 2015 के विधनासभा चुनाव के दौरान आगाह किया था कि तथाकथित महागठबंधन के वादों के झांसे में न आएं। आपने ध्यान नहीं दिया और नीतीश कुमार को वोट दिया, जो अब भाजपा की गोद में बैठे हैं।’’ 

औवेसी ने कहा,‘‘ आपको वही गलती दोबारा नहीं करनी चाहिए। हाथ (कांग्रेस चुनाव चिन्ह) वाले कुछ और नहीं फिर से भाजपा का डर दिखाकर आपसे वोट मांग रहे हैं। आपको यह नहीं भूलना चाहिये कि भागलपुर दंगों और बाबरी मस्जिद खोले जाने के समय यही पार्टी बिहार और केन्द्र में सत्ता में थी।’’ 

औवेसी ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पर भी निशाना साधा। 

उन्होंने कहा कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह राष्ट्रीय नागरिक पंजी लागू करने के नाम पर असम से समुदाय को बाहर निकालने की खुलेआम धमकी दे रहे हैं और कांग्रेस यह कहते हुए छाती पीट रही है कि हम क्या कर सकते हैं, हमारा तो राज्य में सिर्फ एक ही सांसद है।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए औवेसी ने कहा कि बिहार के मुख्यमंत्री को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से असीम प्रेम है और दोनों की जोड़ी ‘‘लैला-मजनूं’’ की तरह लगती है।

चुनावी सभा को संबोधित करते ओवेसी ने पीएम नरेद्र मोदी और बिहार के सीएम नीतीश कुमार पर जमकर प्रहार कर कहा कि दोनों की आशिकी काफी मजबूत आशिकी है उन्होंने कहा लैला मजनू से भी ज्यादा मोहब्बत इन दोनो में है,लेकिन इन दोनों में लैला कौन है और मजनू कौन है इसका फैसला जनता पर छोड़ दिया । उन्होंने कहा कि जिस दिन दोनों की लैला मजनू की दास्तान लिखी जाएगी । उसमें मोहब्बत का नाम नही लिखा जायेगा वल्कि नफरत का नाम लिखा जायेगा । उन्होंने कहा कि जब से ये दोनों नीतीश और नरेद्र मोदी एक साथ आये ,हिंदुस्तान में हिन्दू मुस्लिम के बीच तनाव में इजाफा हुआ है। जब से ये दोनों साथ आये। हिंदुस्तान को अमन में खतरा पैदा हो गया है ।  

( इनपुट- भाषा से भी )

DO NOT MISS