Elections

जो पाकिस्तान जिंदाबाद कहे, उसे भारत में क्यों रहने दिया जाए? जानें इस मुद्दे पर अर्नब की दो टूक राय

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

हर हिंदुस्तानी शान से कहता है हिंदुस्तान जिंदाबाद। लेकिन कुछ दिन से भारत में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे सुनाई दे रहे हैं। लखनऊ में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगे । मेरठ में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगे। दिल्ली में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगे आखिर जहां पर CAA का विरोध हो रहा है। वहां पाकिस्तान जिंदाबाद का शोर कैसे शुरू हो जाता । मैं एक बात साफ कर दूं और पूरी जिम्मेदारी के साथ कह रहा है हिंदुस्तान में सिर्फ हिंदुस्तान जिंदाबाद हो सकता है। देश का दुश्मन नहीं , भारत में सिर्फ भारत माता की जयकार हो सकती है। पाकिस्तान के प्रोपेगेंडा  की नहीं। जो देश के विरोधियों के साथ खड़ा होगा जो देश के दुश्मन की जयकार करेगा। वो भारतीय नहीं हो सकता, वो सिर्फ और सिर्फ देशद्रोही है। 

अर्नब की राय..

जो लोग पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगा रहे हैं। उन्हें खुली छूट है आपके लिए बॉर्डर खुला है। पाकिस्तान चले जाइए। क्योंकि ये हिंदुस्तान है। यहां सिर्फ हिंदुस्तान जिंदाबाद रहेगा। उन्होंने कहा ''मैं आपको मेरठ का एक वीडियो दिखाता हूं। दंगाइयों ने पुलिस वालों को एक बिल्डिंग में बंद कर दिया। उसमें आग लगा दी बिल्डिंग में 25-30 पुलिस वाले बंद थे। बाद में और पुलिस फोर्स आई तो उन्हें बचाया गया। ऐसे दंगाइयों को आप क्या कहें। जो देश की सुरक्षा करने वालों को जलाए। वो देशद्रोही नहीं तो क्या हैं।

जो लोग कह रहे हैं कि पाकिस्तान जिंदाबाद कहना अभिव्यक्ति की आजादी है। मैं उनके कहता हूं कि पाकिस्तान जाइए। जरा वहां हिंदुस्तान जिंदाबाद बोलकर देखिए। फिर पता चलेगा अभिव्यक्ति की आजादी क्या होता है। अगर ये विरोध नागरिकता कानून संशोधन के खिलाफ है. तो इसमें पाकिस्तान कैसे आ गया। इसका मतलब आपको पाकिस्तान से पैसा मिल रहा है। पाकिस्तान से पैसा लेकर आप लोग भारत में दंगे करा रहे हो।

उन्होंने कहा जिन लोगों को भारत माता की जय कहने में शर्म आती है। वही लोग पाकिस्तान जिंदाबाद पर ताली बजा रहे हैं। ऐसी ही लोग खाते हैं हिंदुस्तान का और गाते हैं पाकिस्तान का। जो लोग पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगा रहे हैं। वो देशद्रोही हैं उन्हें सजा दो और जो ऐसे देशद्रेहियों को बचाए। वो तो सबसे बड़ा देशद्रोही। उसे तो देश से ही क्यों न निकाला जाए।

जो लोग पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाते हैं। कांग्रेस उन्हें माला पहनाती है। लेकिन नए हिंदुस्तान को ये मंजूर नहीं पाकिस्तान की जयकार करने वाले कांग्रेस को पसंद हो सकते हैं। देश को नहीं, वो देशद्रोही हैं। सोनिया गांधी आतंकियों के लिए रोती हैं। प्रियंका वाड्रा हिंसा करने वालों को शहीद कहती हैं। राहुल गांधी दंगाइयों के दोस्त बनते हैं। अरे कांग्रेस हिंदुस्तान की पार्टी है या पाकिस्तान की।

जब पाकिस्तान जिंदाबाद कहने वाले को रोका जाता है,तो प्रियंका गांधी दुखी हो जाती हैं और कहती हैं  भारत का संविधान किसी के खिलाफ ऐसी भाषा की इजाजत नहीं देता। संविधान इस बात की इजाजत कहां देता है कि भारत में रहने वाले पाकिस्तान जिंदाबाद कहें

आज पुलिस ने बताया कि दिल्ली में हिंसा करने वाले 15 बांग्लादेशी थे। दिल्ली में बांग्लादेशी पकड़े जा रहे हैं यूपी में पाकिस्तान के पैसे से हिंसा हो रही है, ऐसे ही लोगों को आप लोग बचा रहे हैं।