Elections

EXCLUSIVE: साध्वी प्रज्ञा को टिकट देने को लेकर बोले अमित शाह- कांग्रेस ने वोटबैंक के लिए फर्जी केस बनाए, दुनिया को गुमराह किया

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

भोपाल संसदीय क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी एवं मालेगांव बम धमाकों की आरोपी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर की उम्मीदवारी का मजबूती से समर्थन करते हुए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने बुधवार को कहा कि कांग्रेस ने वोट बैंक के लिए उनके खिलाफ फर्जी मामला बना कर आतंकवादी गतिविधियों में फंसाया गया है।

रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी से एक्सक्लूसिव बातचीत में अमित शाह ने कहा कि दो केसों जजमेंट आया और दोनों केसों में थ्योरी को ख़ारिज कर दिया। कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने एक 'फेक थ्योरी' चलायी और वोट बैंक के लिए देश की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ किया।

उन्होंने आगे कहा कि सबसे बड़ी बात यह है कि समझौता ब्लास्ट केस में जो पहले लोग जो पकड़े गए थे, वो कहां गए। उन्हें क्यों छोड़ा गया? 

कांग्रेस पर फर्जी केस करने का आरोप लगाते हुए अमित शाह ने कहा कि ये सिद्ध हो गया है कि कांग्रेस ने वोटबैंक के लिए फर्जी केस बनाया। दुनिया को गुमराह किया। उन्होंने असली गुनहगार को छोड़ दिया।

यह भी पढ़ें - साध्वी प्रज्ञा को NIA से क्लीन चिट मिल चुकी है, इसके बाद बीजेपी ने उन्हें प्रत्याशी बनाया- देवेंद्र फडणवीस

बता दें, बीते हफ्ते महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भी रिपब्लिक भारत से एक्सक्लूसिव बातचीत में साध्वी प्रज्ञा का बचाव करते हुए कहा था कि साध्वी प्रज्ञा पर आरोप लगे उनको NIA ने क्लीन चिट दी। NIA के क्लीन चिट देने के बाद उन्हें टिकट दिया गया है। मेरा सवाल यह है कि आरोप तो राहुल गांधी और सोनिया गांधी के उपर भी लगे। वह भी बेल में हैं। वह चुनाव कैसे लड़ रहे हैं? NIA ने क्लीन चिट में साफ दिखाई दे रहा है कि अल्पसंख्य वोटरों को खुश करने के लिए एक नैरेटिव तैयार करने की कोशिश की गई।

गौरतलब है कि वर्ष 2008 में मालेगांव बम विस्फोट मामले में प्रज्ञा ठाकुर के खिलाफ गैर-कानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम (यूएपीए कानून) के तहत मामला अदालत में विचाराधीन है। हालांकि, इस मामले में मकोका के तहत उन्हें क्लीन चिट मिल चुकी है।

भोपाल लोकसभा सीट पर कांग्रेस के उम्मीदवार दिग्विजय सिंह के खिलाफ भाजपा ने कट्टर हिन्दुत्व छवि की भगवाधारी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को उम्मीदवार बनाया है। इसके बाद इस लोकसभा सीट का चुनाव पूरे देश में चर्चित हो गया है।

DO NOT MISS