Elections

EXCLUSIVE: गांधीनगर सीट से जीत को लेकर आश्वस्त अमित शाह बोले- 'ये सीट BJP का गढ़, बड़े अंतर से जीतेंगे चुनाव'

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण में मंगलवार को 15 राज्यों की 117 सीटों पर शाम सात बजे तक 66 प्रतिशत मतदान हुआ। तीसरे चरण वाली इन सीटों पर लोकसभा चुनाव 2014 में 69.3 प्रतिशत मतदान हुआ था। इस चरण के मतदान पूरा होने के साथ बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत कई दिग्गजों की किस्मत ईवीएम में कैद हो गई। 

लेकिन बीजेपी का गढ़ माने जाने वाली गुजरात की गांधीनगर सीट पर सबकी नजरें टिकी हुई थी, क्योंकि यहां से अमित शाह उम्मीदवार है। रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी से एक्सक्लूसिव बातचीत में अमित शाह ने गांधीनगर में अपनी जीत की उम्मीद जताई हैं।

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि गांधीनगर से कई बार में विधायक रहा। मैं 20 साल से यहां से विधायक रहा है और गांधीनगर में प्रत्याशी कौन है ये भी मायने नहीं रखता क्योंकि भारतीय जनता पार्टी का गढ़ है और  यहां की जनता बीजेपी को प्यार करती है और भारतीय जनता पार्टी के साथ हर चुनौती में खड़ी रहती है। तो मुझे पूरा भरोसा है कि एक अच्छे अंतर से भारतीय जनता पार्टी की जीत होगी।

बता दें, अमित शाह गुजरात की गांधीनगर सीट से मैदान में है, जहां से अभी तक भाजपा के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी चुनाव लड़ा करते थे। 

गांधीनगर सीट की खास बातें

आपको बताते हैं कि गांधी नगर सीट की खास बात क्या है? 1989 से एकतरफा मुक़ाबला रहा है, सालों से बीजेपी बड़े अंतर से जीतती रही है। इस सीट से अटल बिहार वाजपेयी, लालकृष्ण आडवाणी चुनाव जीतते रहे हैं। इस सीट में सबसे ज़्यादा वोट पाटीदार समुदाय का है। पिछले लोकसभा चुनाव में 17 लाख 33 हजार 972 मतदाता थे।

गांधीनगर लोकसभा सीट देश की वीवीआईपी सीटों में से एक है। यह वो सीट है जहां से बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी छह बार सांसद रहे हैं। गांधीनगर आडवाणी के राजनीतिक करियर के लिए बेहद खास रहा है। वह पहली बार 1991 में यहां से चुनाव जीते थे। इसके बाद 1998 से वह लगातार 5 बार चुनाव जीते। लेकिन इस बार 91 वर्षीय आडवाणी की जगह बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को यहां से उम्मीदवार बनाया गया है।

DO NOT MISS