Elections

घुसपैठियों को देश से निकालने के प्रयास में राहुल गांधी बाधक बने : अमित शाह

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

राष्ट्रीय सुरक्षा को अपनी सरकार की शीर्ष प्राथमिकता बताते हुए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने सोमवार को आरोप लगाया कि जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) के तहत देश से घुसपैठियों को निकालने की तैयारी की तो राहुल गांधी मैदान में आ गए कि इन्हें मत निकालो।

बिहार के बेतिया एवं पूर्वी चंपारण में चुनावी रैलियों को संबोधित करते हुए शाह ने कहा, ‘‘भाजपा कहती है कि कश्मीर से धारा 370 हटाओ और राहुल बाबा कहते हैं कि देशद्रोह की धारा हटाओ।’’ उन्होंने कहा कि राहुल बाबा, लालू-राबड़ी को जो कहना हो कहें, नरेन्द्र मोदी के शासन में जो भारत माता के टुकड़े करने की बात करेगा, उसकी जगह जेल की सलाखों के पीछे होगी।

शाह ने कहा कि जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) के तहत देश से घुसपैठियों को निकालने की तैयारी की तो राहुल गांधी मैदान में आ गए कि इन्हें मत निकालो।

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए शाह ने कहा कि राहुल बाबा सुन लें, ये आपके वोटबैंक का सवाल हो सकता है, हमारे लिए ये देश की सुरक्षा का सवाल है।

उन्होंने कहा कि बालाकोट में एयर स्ट्राइक के बाद पूरे देश में खुशी की लहर दौड़ पड़ी। लेकिन दो जगह मातम छा गया, एक पाकिस्तान में और दूसरा राहुल बाबा और लालू प्रसाद के कार्यालय में। जब पाकिस्तान के आतंकियों को मारा गया तो इनके चहरे का नूर क्यों उड़ गया? शाह ने कहा, ‘‘बालाकोट में एयर स्ट्राइक के बाद राहुल बाबा एंड कंपनी सबूत मांगने लगी। इनमें अगर थोड़ी भी अक्ल होती तो पाकिस्तान का टीवी चैनल खोलकर देख लेते, वहां के लोगों का रोना सुनकर इन्हें सबूत खुद मिल जाता।’’ भाजपा अध्यक्ष ने कहा, ‘‘ 55 साल तक देश में राहुल बाबा के परिवार ने शासन किया। 15 साल तक लालू-राबड़ी ने बिहार में शासन किया, लेकिन बिहार के विकास के लिए इन लोगों ने कुछ नहीं किया।’’ 

उन्होंने आरोप लगाया कि अब ये फिर से बिहार को लालटेन युग में ले जाना चाहते हैं।

शाह ने कहा कि देश में मोदी- मोदी नारे का कारण है कि, 70 साल से जनता ऐसे नेता की राह देख रही थी, जो अपने और अपने परिवार के लिए नहीं, देश के लिए अपना जीवन लगा दे। जनता को नरेन्द्र मोदी के रूप में वह नेता मिला है।

उन्होंने कहा कि आज एक ओर बिना छुट्टी लिए 24 घंटे में से 18 घंटे काम करने वाले नेता नरेन्द्र मोदी हैं, तो दूसरी ओर थोड़ी सी गर्मी बढ़ने पर छुट्टी पर चले जाने वाले राहुल गांधी हैं। ये लोग क्या देश का विकास करेंगे।

शाह ने कहा कि हमारे प्रत्याशी राधा मोहन सिंह का पूरा जीवन पार्टी को समर्पित रहा है। वह देश के कृषि मंत्री हैं, कद्दावर नेता हैं। उनके नेतृत्व में कृषि क्षेत्र का जीडीपी सुधरा है। बेतिया के सांसद संजय जयसवाल ने भी विकास कार्यो को आगे बढ़ाया है।


 

DO NOT MISS