Elections

AAP-कांग्रेस में गठबंधन तकरीबन तय, इस फॉर्मुले के साथ अब दिल्ली में होगा सीट बंटवारा

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

दिल्ली में सियासी समीकरण तेजी से बदल रहे हैं। रिपब्लिक भारत के सूत्र बता रहे हैं कि दिल्ली में कांग्रेस और आप के बीच सीटों को लेकर सहमति बन चुकी है। कुछ ही देर में औपचारिक एलान भी हो सकता है। इस वक्त दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित के घर पर बैठक चल रही है। 

कांग्रेस प्रभारी पी सी चाको थोड़ी देर पहले शीला दीक्षित के घर पहुंचे हैं। खबर है कि नए फॉर्मूले के मुताबिक कांग्रेस और आप के बीच तीन तीन सीटों को लेकर सहमति बन गई है। बाकी की एक सीट किसी सहयोगी को दी जाएगी।

यह भी पढ़ें - AAP-कांग्रेस में गठबंधन तकरीबन तय, दिल्ली के साथ हरियाणा में भी साथ आएंगे राहुल- केजरीवाल : सूत्र

हालांकि इस संभावित सीटों के बंटवारे दिल्ली में आप और कांग्रेस के बीच बड़ा भाई वाली भूमिका का मुद्दा सुलझ सकता है। इससे पहले ऐसी खबर सामने आई थी कि दोनों पार्टियां दिल्ली के साथ पड़ोसी राज्य हरियाण में भी चुनावी गठबंधन कर सकती हैं। लेकिन इस गठबंधन को लेकर दिल्ली कांग्रेस दो फाड़ नजर आ रही है, शीला दीक्षित का खेमा चाहता है कि वो दिल्ली में अकेले अपने दम पर उतारे वहीं पीसी चाको खेमे की यह मांग है कि बीजेपी को हराने के लिए आप से गठबंधन करना जरूरी है। अब जब गठबंधन लगभग- लगभग होता दिखा रहा है तो यकीनन ये शीला दीक्षित के लिए किसी झटके से कम नहीं होगा।

संभावित सीट बंटवारे के तहत आम आदमी पार्टी पर 4 सीटों तो  3 सीटों पर कांग्रेस चुनाव लड़े सकती है । हालांकि बीते 25 मार्च को राहुल गांधी की प्रदेश अध्यक्ष शीला दीक्षित, दिल्ली प्रभारी पीसी चाको और अजय माकन जैसे नेताओं के साथ बैठक की थी, जिसमें आप के साथ गठबंधन के सभी पहलुओं पर मंथन किया गया था ।

गौरतलब है कि दिल्ली की सभी सातों सीटों पर एक चरण में मतदान होगा । दिल्ली में छठे चरण में 12 मई को मतदान होगा । वोटों की गिनती 23 मई को होगी । लेकिन किसी गठबंधन ना होने की सूरत में दिल्ली में त्रिकोणीय मुकाबला देखने को मिल सकता है, हालांकि 2014 में दिल्ली लोकसभा की सातों सीट बीजेपी के खाते में गई थी ।

DO NOT MISS