Elections

राजीव गांधी पर बयान से बौखलाई कांग्रेस, अहमद पटेल बोले- शहीद PM के लिए अपशब्द कहना कायरता की निशानी है

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा चुनाव प्रचार अभियान में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को बार-बार निशाना बनाए जाने के बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने गुरुवार को कहा कि शहीद प्रधानमंत्री के बारे में अपशब्द कहना ‘‘बेहद कायरता’’ की निशानी है।

पटेल का यह बयान ऐसे समय में आया है, जब मोदी ने एक दिन पहले ही गांधी परिवार पर आरोप लगाया था कि जब राजीव गांधी प्रधानमंत्री थे तो INS विराट उस समय समुद्री सीमाओं की रखवाली के लिए तैनात था। लेकिन उसे छ्ट्टियां मनाने जा रहे गांधी परिवार को लेने के लिए भेज दिया गया। उसके बाद उनके पूरे कुनबे को लेकर आईएनएस विराट एक खास द्वीप पर रुका रहा था।

उन्होंने राजीव गांधी पर देश की सुरक्षा से खिलवाड़ करने का आरोप लगाते हुए कहा कि राजीव गांधी के साथ छुट्टी मनाने वालों मे, उनकी ससुराल वाले भी शामिल थे। सवाल ये कि क्या विदेशियों को भारत के वॉरशिप पर ले जाकर तब देश की सुरक्षा से खिलवाड़ नहीं किया गया था? या सिर्फ इसलिए क्योंकि वो राजीव गांधी की ससुराल के लोग थे, इटली से आए थे, उन्हें सारी छूट मिल गई थी।


पटेल ने ट्वीट किया, ‘‘उनकी नफरत के कारण राजीवजी ने अपना जीवन गंवा दिया और वह अपने खिलाफ कहे जा रहे अपशब्दों एवं लगाए जा रहे निराधार आरोपों का उत्तर देने के लिए अब हमारे बीच यहां नहीं हैं। एक शहीद प्रधानमंत्री के लिए अपशब्द कहना बेहद कायरता है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘उनकी हत्या का जिम्मेदार कौन है? विश्वसनीय खुफिया जानकारी मिलने और बार बार अनुरोध किए जाने के बाद भी भाजपा समर्थित वी पी सिंह सरकार ने उन्हें अतिरिक्त सुरक्षा मुहैया कराने से इनकार कर दिया था और उन्हें केवल एक पीएसओ दिया था।’’ 
 

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी एवं महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा समेत कई कांग्रेस नेताओं ने राजीव गांधी पर निशाना साधने के लिए मोदी की आलोचना की है।

इससे पहले भी मोदी ने बोफोर्स घोटाले का जिक्र करते हुए राजीव गांधी को ‘‘भ्रष्टाचारी नंबर एक’’ बताया था। राजीव गांधी 1984 से 1989 तक देश के प्रधामनंत्री रहे थे। 

(इनपुट- भाषा से भी)

DO NOT MISS