Elections

'आप' की जुबां का भरोसा नहीं, अरविंद केजरीवाल ने खेला सबसे नया दांव: यहां पढ़ें

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

सत्ता के गलियारों उबाल चरम पर है, और भला हो भी क्यों ना... चुनाव सिर पर है। वोट के फरियाद के लिए नेताजी लोग जनता की चौखट पर तशरीफ रख रहे हैं। इस बीच हाल ही में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी जनता के सामने खुलेआम ये ऐलान किया था कि वो दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाने के लिए ईंट से ईंट बजा देंगे। लेकिन अब उनके रंग बदले-बदले से दिखाई देने लगे हैं।

केजरीवाल ने दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा के मुद्दे पर मोदी सरकार को घेरा है। इस दौरान उन्होंने कहा है कि बीजेपी एक-एक सीट के लिए रो रही है। दिल्ली में सात सीटें हैं, इन सात सीटों पर केंद्र में सरकार बन सकती है।

दिल्ली के सीएम केजरीवाल का ये भी कहना है, ''हो सकता है आम आदमी पार्टी की मदद से केंद्र में सरकार बने, अगर ऐसा हुआ तो हम बीजेपी के सामने दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाने की शर्त रखेंगे।''

अरविंद केजरीवाल ने सबसे नया दांव खेला है। वो दांव दिल्ली की 7 सीटों से जुड़ा है। इस दांव पेंच से ये जाहिर होता दिख रहा है, कि नेताजी दिल्ली की जनता को लॉलीपॉप थमाने के लिए जद्दोजहद कर रहे हैं।

गौरतलब है कि दिल्ली के सीएम काफी लंबे वक्त से इस बात की दुहाई दे रहे हैं कि उन्हें मुख्यमंत्री पद से जुड़े सभी अधिकार प्राप्त नहीं है। हर जगह वो यही पीड़ा जाहिर करते रहे हैं कि उनके पास एक ट्रांसफर तक का पावर नहीं है। 

अपनी छाती पीट-पीटकर केजरीवाल ये गुहार लगाते फिर रहे हैं कि दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा मिलना चाहिए। शायद इस बार दिल्ली में 7 सीटों पर होने वाले लोकसभा चुनाव में केजरीवाल का सबसे बड़ा चुनावी मुद्दा यही है।

केजरीवाल ने तो ये भी ऐलान कर दिया है कि अगर दिल्ली में सभी 7 सीटों पर उनके प्रत्याशियों ने बाजी मारी तो वो दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाने के बाद ही चैन की सांस लेंगे।

इसके साथ ही उन्होंने ये भी घोषणा की है कि दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा मिलने के बाद वो दिल्लीवालों के लिए यूनिवर्सिटी और स्कूलों-कॉलेजों में ज्यादा से ज्यादा सीटें आरक्षित कर देंगे। हालांकि इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि वो कई बातों की तरह इस बात से भी नहीं पलटेंगे।

अपनी इच्छा जाहिर करके सीएम केजरीवाल ने अपनी बात से यू-टर्न ले लिया है। ऐसे में रिपब्लिक भारत डंके की चोट पर अरविंद केजरीवाल से कुछ सवाल पूछता है।

R. भारत के सवाल

  1. ये पलटूराम केजरीवाल का नया दांव है?
  2. क्या 'आप' की जुबां का भरोसा नहीं है?
  3. दिल्ली को पूर्ण राज्य पर सियासत क्यों ?
  4. क्या ऐसे मिलेगा पूर्ण राज्य का दर्जा?
  5. क्या दिल्ली की 7 सीटों पर ऐसे जीतेंगी AAP?
DO NOT MISS