Elections

एयर चीफ पर कांग्रेस की सियासत, राफेल पर बीएस धनोआ के बयान पर उठाए सवाल

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

देश की सुरक्षा से जुड़े मसले पर कांग्रेस सियासत करने से बाज नहीं आ रही है। अब वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ के बयान पर भी कांग्रेस को सियासत नज़र आ रही है। कांग्रसे नेता मनीष तिवारी ने राफेल पर धनोआ के बयान को चुनावी बयान करार दिया है। दरअसल बीएस धनोआ ने राफेल की तारीफ करते हुए कहा था कि राफेल के आने से बॉर्डर पर पाकिस्तान भटक भी नहीं पाएगा। 

आपको पूरा माजरा तफ्सील से समझाते हैं। इंडियन एयरफोर्स के चीफ बीएस धनोआ राफेल को लेकर एक बयान दिया जिसके बाद कांग्रेस की ओछी राजनीति तेज हो गई।

वायुसेना प्रमुख ने कहा कि जब राफेल आएगा, तो हमारी वायु रक्षा क्षमता कई गुना बढ़ जाएगी।  इससे पाकिस्तान नियंत्रण रेखा या सीमा पर आने से गुरेज करेगा। हमारे पास ऐसी क्षमता होगी, जिसका पाकिस्तान के पास कोई जवाब नहीं होगा।

बीएस धनोआ के इस बयान के बाद कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने कहा कि चुनाव के समय एयर चीफ मार्शल धनोआ की तरफ से दिया गया। ये बयान चुनावी प्रतीत होता है, सार्वजनिक रूप से एयर चीफ मार्शल को ऐसे बयान देने से बचना चाहिए।

इस बा में कोई दो राय नहीं है कि भारतीय वायुसेना ने जो कहा है वो बिल्कुल सही कि अगर हमारे पास अभी यह विमान होते तो पाकिस्तान एलओसी में घुसपैठ करने से पहले दो बार सोचता। यह विमान अपने आप में बेहतरीन है, मनीष तिवारी ने ऐसी बयानबाजी करने से पहले ये भी नहीं सोचा कि कांग्रेस भी इसे लाना चाहती थी लेकिन 10 साल में वो इस सौदे को पूरा कर पाने में असफल रही।

ये कोई पहली दफा नहीं है जब कांग्रेस पार्टी ने अपनी बयान के एवज में भारतीय सेना का अपमान किया है। इससे पहले भी कांग्रेस पार्टी के कई नामचीन चेहरों ने कुछ यूं कहा... नीचे पढ़ें:

सेना का अपमान क्यों?

  1. सेना नरसंहार करती है: गुलाम नबी आजाद
  2. सेना के ऑपरेशन में आम लोग मरते हैं: गुलाम नबी आजाद
  3. सर्जिकल स्ट्राइक फ़र्ज़ी: संजय निरुपम
  4. थल सेनाध्यक्ष सड़क के गुंडे की तरह: संदीप दीक्षित
  5. राफेल पर वायुसेना प्रमुख झूठे: वीरप्पा मोइली
  6. कश्मीरी लोगों को सेना मारती है: दिग्विजय सिंह
  7. आतंकी बुरहान वानी को ज़िंदा रखता: सैफुद्दीन सोज 
  8. भारतीय सेना बलात्कारी है: सलमान निजामी

एयर चीफ मार्शल ने राफेल को देश की ताकत बढ़ाने का जरिया बताया तो ये बात कांग्रेस पार्टी को पच नहीं पाई। इस मसले को लेकर कांग्रेस ने एक बार फिर राफेल का राग अलापा और वायुसेना प्रमुख को ही सियासत गलियारों से जुड़े सवालों के कटघरे में खड़ा कर दिया।

DO NOT MISS