Elections

हरियाणा में भी कांग्रेस की ‘ना’ के बाद, सिर्फ दिल्ली में गठबंधन के लिए आप तैयार नहीं: सिसोदिया

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

आप ने पंजाब के बाद हरियाणा में भी गठबंधन के लिए कांग्रेस की ना के बाद सिर्फ़ दिल्ली में गठबंधन की संभावना से इंकार कर दिया है।

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री और आप नेता मनीष सिसोदिया ने शनिवार को कहा, “कांग्रेस ने कल रात हरियाणा में भी आप के साथ गठबंधन से इंकार कर दिया है, ऐसे में सिर्फ़ दिल्ली में कांग्रेस से गठबंधन के लिए आप तैयार नहीं है।”

सिसोदिया ने कहा कि आप ने गठबंधन की पहल सिर्फ़ देश को ‘मोदी-शाह’ की जोड़ी को फिर से सत्ता में आने से रोकने के लिये की थी, लेकिन कांग्रेस सीटों के गणित में लगी है। उसका मक़सद मोदी-शाह की जोड़ी के ख़तरे से देश को बचाना नहीं है।

यह भी पढ़ें - AAP-कांग्रेस के बीच गठबंधन को लेकर जारी खींचतान के बीच कपिल मिश्रा का ट्वीट- 'कीमत पूरी मिली तो घुँघरू सेठ गठबंधन करेगा'

उन्होंने हालांकि अभी भी गठबंधन की बातचीत पर पूर्णविराम लगने के सवाल पर कहा, “हमने अपनी तरफ़ से हर सम्भव प्रयास कर लिया है। अब कांग्रेस के ऊपर है कि वह क्या करती है। मुझे नहीं लगता है कि कांग्रेस भाजपा को रोकने के लिए संजीदा है।”

इस दौरान गठबंधन के लिए बातचीत कर रहे आप के राज्य सभा सदस्य संजय सिंह ने कहा, “कल कांग्रेस ने पंजाब और हरियाणा में गठबंधन का अध्याय बंद कर दिया है। हमें नहीं समझ आ रहा है कि कांग्रेस, मोदी-शाह की जोड़ी को सत्ता में आने की संभावना को ज़िंदा क्यों रख रही है।”

आप नेता संजय सिंह ने साध्वी प्रज्ञा के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि "देश के टुकड़े-टुकड़े करने की मंशा रखने वाली, शहीद हेमंत करकरे जैसे योद्धाओं की शहादत का अपमान करने वाली पार्टी फिर से सरकार बनाती है तो इसकी ज़िम्मेदार Congress होगी"

 

DO NOT MISS