Elections

National Approval Ratings | BJP के खाते में जा सकती हैं दिल्ली की इतनी सीट, कांग्रेस और आप के भी खुल सकते हैं खाते। पढ़ें आंकड़े

Written By Amit Bajpayee | Mumbai | Published:

लोकसभा चुनाव की तारीखों का  ऐलान हो गया है। सात चरणों में लोकसभा चुनाव होंगे । 11 अप्रैल से चुनाव की शुरुआत हो रही है। 23 मई को नतीजे आ जाएगा। 23 मई को साफ हो जाएगा कि देश में अगली सरकार किसकी बनने वाली है। लेकिन उससे पहले हम आपको बताएंगे कि जनता किसके साथ है और किसके खिलाफ।

रिपब्लिक टीवी और सी वोटर ने मिलकर एक सर्वे किया है। इस सर्वे के जरिए हम आपको बताने वाले हैं कि आज देश का मिजाज क्या है। देश में मोदी आज कितने लोकप्रिय है। और राहुल गांधी किस पायदान पर हैं।

दिल्ली की बात करें तो दिल्ली में लोकसभा की 7 सीटें हैं। अभी दिल्ली की सातों लोकसभा सीटों पर भारतीय जनता पार्टी के सांसद हैं। दिल्ली में फिलहाल आम आदमी पार्टी की सरकार है। दिल्ली में मुख्यतौर पर तीन पार्टियों के बीच मुकाबला है। बीजेपी, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी।

किसको कितनी सीटें...

ओपिनियन पोल PROJECTION: के मुताबिक दिल्ली की सात सीटों में से सातों  NDA के खाते में जाती हुई दिख रही हैं। वहीं विपक्षी दलों दिल्ली में भी जोरदार झटका लगने वाला है। दिल्ली की सात सीट में से एक भी सीट आम आदमी पार्टी के खाते में जाती नजर नहीं दिख रही है यह आम आदमी पार्टी के लिए भी ये किसी तगड़े झटके से कतई कम नहीं होगा। तो वहीं कांग्रेस को भी तगड़ा झटका लगता दिख रहा है। 

बता दें, आम आदमी पार्टी ने 2014 में भी दिल्ली की सभी लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ा था लेकिन उन्हें एक भी सीट पर जीत नहीं मिली थी।

वोट शेयर -
ओपिनियन पोल PROJECTION: के अनुसार वोट शेयर की बात करें तो BJP को लगभग 48.5 वोट प्रतिशत मिलने का अनुमान लगाया गया है। वहीं कांग्रेस को 22.6  प्रतिशत वोट शेयर और अरविंद केजरीवाल की पार्टी आम आदमी पार्टी को 23 प्रतिशत वोट शेयर मिलने का अनुमान जताया गया है। वहीं निर्दलीय को 5.8 फीसदी वोट शेयर मिलने का अनुमान है।

दिल्ली में फिलहाल आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन को लेकर अटकलें लगातार बनी हुई हैं। तस्वीरें फिलहाल साफ नहीं हैं। लेकिन अगर दोनों पार्टियां अलग-अलग चुनाव लड़ती हैं दो हाल कुछ ऐसा ही होगा।

गौरतलब है कि चुनाव आयोग ने लोकसभा की कुल 543 सीटों पर सात चरणों में चुनाव का ऐलान किया है। 11, 18, 23, 29 अप्रैल और 6, 12 और 19 मई को चुनाव होंगे। मतगणना एक साथ 23 मई को होगी। 22 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में एक चरण में ही मतदान होगा। चुनाव कार्यक्रम के ऐलान के साथ ही पूरे देश में आचार संहिता लागू हो गई है।
 
 

DO NOT MISS