Elections

'जन की बात' के EXIT POLL में एक बार फिर जीत का परचम लहराएगी BJP

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

2019 के लोकसभा चुनाव के लिए काउंटडाउन शुरू हो चुका है.  2019 से पहले पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव को 'सत्ता का सेमीफाइनल' के तौर पर देखा जा रहा है. इन सभी राज्यों में चुनाव के लिए वोटिंग हो चुकी है. अब बस हर किसी को नतीजों का इंतजार है. हर कोई इसी सोच में डूबा हुआ है कि आखिर पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव के 11 दिसबंर को आने वाले नतीजों में क्या होगा. 

लोगों के इंतजार को थोड़ा ठंडा करने के मकसद से पांच राज्यों में हुए चुनाव के एग्जिट पोल आ चुके हैं. इन ओपिनियन पोल में 'जन की बात' के आंकड़ें काफी चौंकाने वाले दिखाई दे रहे हैं. 'जन की बात' के EXIT POLL के मुताबिक पांच में से एक राज्यों में भारतीय जनता पार्टी सरकार बनाती दिखाई दे रही है. जबकि दो राज्य में वो सबसे बड़ी पार्टी बनकर आ रही है लेकिन उस राज्य में सरकार बनाने की हालत में नहीं दिखाई दे रही है.

वहीं 'जन की बात' के EXIT POLL में कांग्रेस को पांच में किसी राज्य में सत्ता हाथ नहीं लगने वाली है. इस एग्जिट पोल में बीजेपी मध्यप्रदेश में एक बार फिर से सरकार बनाती दिखाई दे रही है. वहीं छत्तीसगढ़ और राजस्थान में एग्जिट पोल के मुताबिक वो सबसे बड़ी पार्टी बनकर सामने आ रही है. हालांकि इन दोनों राज्यों में बीजेपी के पास सरकार बनाने के लिए पर्याप्त सीट नहीं है. 

बता दें, इस एग्जिट पोल से इसका अंदाजा लगाया जा सकता है कि पांच राज्यों में हुए चुनाव में किन राज्यों में किस पार्टी की सरकार बन सकती है. गौरतलब है कि ये ओपिनियन पोल राज्‍यों में राजनीतिक हालात को समझने के लिहाज से बेहद अहम होते हैं.

मध्यप्रदेश में क्या कहता है 'जन की बात' का एग्जिट पोल ?

'जन की बात' के एग्जिट पोल के मुताबिक मध्यप्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के सिर का एक फिर बना हुआ दिखाई दे रहा है. इसके आंकड़ों के मुताबिक बीजेपी को पूर्ण बहुमत मिल रहा है. 'जन की बात' के एग्जिट पोल के अनुमान इस बात को बयां कर रही है कि मध्यप्रदेश में बीजेपी 108 - 128 सीट के साथ पूर्ण बहुमत, कांग्रेस को 95 -115 सीट पर जीत की उम्मीद और अन्य को 7 सीट मिलती नज़र आ रही है. 

गौरतलब है कि पिछले चुनाव में बीजेपी ने रिकॉर्ड जीत के साथ 165 सीट अपने नाम किए थे. जबकि कांग्रेस 58 सीटों पर ही सिमट गई थी. और अन्य की झोली में 7 सीटें गए थे.

राजस्थान में क्या कहता है 'जन की बात' का एग्जिट पोल ?

पांच राज्‍यों के विधानसभा में राजस्‍थान को लेकर लोगों की दिलचस्‍पी अधिक है, जहां कांग्रेस और बीजेपी के बीच सीधा मुकाबला है. पिछले 2 दशकों से भी अधिक समय से यहां किसी पार्टी की 5 साल के कार्यकाल के बाद लगातार दूसरे कार्यकाल के लिए सत्‍ता में वापसी नहीं हुई है. लेकिन इस बार के 'जन की बात' के एग्जिट पोल के मुताबिक कांटे की टक्कर दिखाई दे रही है. 

राज्‍य में 200 विधानसभा सीटें हैं. 'जन की बात' के एग्जिट पोल के अनुसार राजस्थान में बीजेपी को 83 से 103 सीट तक के बीच करीब 93 सीट मिलने के आसार दिखाई दे रहे हैं. लेकिन 93 सीट बीजेपी को सत्ता में काबिज रखने के लिए काफी नहीं हैं लेकिन वो सबसे बड़ी पार्टी जरूर बन रही है.

वहीं कांग्रेस के खाते में 81 से 101 सीट तक के बीच करीब 91 सीट पर जीत दर्ज करने के कयास लगाए जा रहे हैं. जबकि 15 सीटें अन्य की झोली में जाते नज़र आ रहे हैं. 

2013 के चुनाव में कांग्रेस को यहां महज 21 सीटें मिली थीं, जबकि बीजेपी के खाते में 163 सीटें गई थीं.

 

छत्तीसगढ़ में क्या कहता है 'जन की बात' का एग्जिट पोल ?

मध्‍य प्रदेश से अलग होकर बने छत्‍तीसगढ़ में राज्‍य विधानसभा की 90 सीटें हैं. यहां एग्जिट पोल के नतीजे भी उलझा देने वाले आए हैं. 'जन की बात' के एग्जिट पोल के मुताबिक यहां भी इस बार कुछ राजस्थान वाला ही हाल होने वाला है. यहां भी बीजेपी सबसे ज्यादा सीट के साथ सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरती दिखाई तो दे रही है. लेकिन पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने के लिए बीजेपी के पास पर्याप्त सीट नहीं हैं.

'जन की बात' के एग्जिट पोल के अनुमान कुछ और ही बयां कर रहे हैं.  'जन की बात' के मुताबिक बीजेपी को छत्तीसगढ़ में 40-48 सीट के साथ पूर्ण बहुमत, कांग्रेस को 37-43 सीट पर जीत की उम्मीद, जोगी और माया गठबंधन को 5 से 6 सीट और अन्य को 0-1 सीट मिलती नज़र आ रही है. 

बता दें, 2013 के चुनाव में 90 सदस्‍यीय राज्य विधानसभा में बीजेपी को 49 सीटें मिली थीं, जबकि कांग्रेस उससे सिर्फ 10 सीटें पीछे 39 पर थी.


तेलंगाना में क्या कहता है 'जन की बात' का एग्जिट पोल ?

जिन 5 राज्‍यों में विधानसभा चुनाव हो रहे हैं उनमें तेलंगाना सबसे नया है. ये राज्‍य 2014 में अस्तित्‍व में आया था. जिसके बाद अलग राज्‍य की मांग को लेकर आंदोलन चलाने वाली पार्टी तेलंगाना राष्‍ट्र समिति के प्रमुख के चंद्रशेखर राव (KCR) मुख्‍यमंत्री बने. राज्‍य में दूसरी बार विधानसभा चुनाव 2019 में होना था. लेकिन सीएम केसीआर ने कार्यकाल पूरा होने से पहले ही सितंबर 2018 में विधानसभा भंग कर दी.

तेलंगाना में 'जन की बात' के एग्जिट पोल के मुताबिक TRS दोबारा सत्ता में आने वाली है. आंकड़ो के मुताबिक TRS को 50 से 65 सीट तक मिलने के आसार हैं. कांग्रेस गठबंधन को 38 से 52 सीट मिलने की उम्मीद है. जबकि ओवैसी की पार्टी AIMIM के खाते में 5 से 7 सीट जाती दिखाई दे रही हैं. बीजेपी के पास 4 से 7 और अन्य की झोली में 3 से 7 सीट तक जाता दिखाई दे रहा है. 

अब इंतजार है तो आगामी 11 दिसंबर का जिस दिन चुनाव के नतीजे सामने आ जाएंगे.

DO NOT MISS