Representational image | PTI
Representational image | PTI

Economy

कोरोना वायरस: शेयर बाजार में तबाही से चंद घंटों में निवेशकों के 8 लाख करोड़ रुपये से अधिक डूबे

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

विश्व स्वास्थ्य संगठन के कोरोना वायरस को महामारी घोषित करने के बाद दुनिया भर के बाजारों में हुई भारी गिरावट का असर घरेलू शेयर बाजारों में भी देखा गया और शुरुआती कारोबार के दौरान निवेशकों के आठ लाख करोड़ रुपये से अधिक डूब गए।

वैश्विक वित्तीय बाजारों में उथल-पुथल के बीच 30 शेयरों वाला बीएसई सेंसेक्स 1,864.02 अंक या 5.22 प्रतिशत टूट कर 33,833.38 के स्तर पर आ गया। शेयर बाजार के पतन के चलते निवेशकों की 8.56 लाख करोड़ रुपये डूब गये।

बीएसई में सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण बुधवार को कारोबार खत्म होने पर 137 लाख करोड़ रुपये था, जो गुरुवार को सुबह साढ़े 10 बजे तक घटकर 128 लाख करोड़ रुपये रह गया।

व्यापारियों ने कहा कि वैश्विक रुख के अलावा विदेशी फंड के लगातार बाहर जाने के चलते निवेशकों की भावनाओं पर प्रतिकूल असर पड़ा। शेयर बाजार के आंकड़ों के मुताबिक विदेशी संस्थागत निवेशकों ने बुधवार को सकल आधार पर 3,515.38 करोड़ रुपये की इक्विटी बेची।

शुरुआती कारोबार के दौरान बीएसई में 1,789 शेयरों में गिरावट आई, जबकि सिर्फ 152 शेयर बढ़त के साथ कारोबार कर रहे थे। इससे पिछले सत्र में सेंसेक्स 62.45 अंक और निफ्टी 6.95 अंक बढ़कर बंद हुआ था।

सेंसेक्स के सभी शेयरों में घाटे के साथ कारोबार हो रहा था। टाटा स्टील में सबसे अधिक नौ प्रतिशत की गिरावट हुई। इसके अलावा ओएनजीसी, एसबीआई, टाइटन, एक्सिस बैंक, एमएंडएम, अल्ट्राटेक सीमेंट, एलएंडटी और आरआईएल में भी बिकवाली देखी गई।

इस दौरान एशियाई बाजारों में भी गिरावट रही।

DO NOT MISS