Economy

‘मोदी, मोदी’ के नारों के बीच सरकार ने किसानों और करदाताओं को व्यापक राहत वाला बजट पेश किया

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

नयी दिल्ली- लोकसभा चुनाव 2019 से पहले केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार ने पहले से चली आ रही परंपराओं का पालन करते हुए आज अंतरिम बजट पेश किया और लोकसभा में सत्तारूढ़ सदस्यों द्वारा ‘मोदी, मोदी’ के नारों के बीच किसानों और करदाताओं को व्यापक राहत की घोषणा की । 

कांग्रेस और कुछ अन्य विपक्षी दलों के सदस्यों ने निचले सदन में सरकार पर अंतरिम बजट पेश होने से पहले ही इसकी जानकारियां लीक करने का आरोप लगाते हुए शोर शराबा किया । 

काला कुर्ता, सफेद पायजामा और काले रंग की जैकेट पहने वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने अंतरिम बजट भाषण एक घंटे 42 मिनट में पढ़ा और कई महत्वपूर्ण बिन्दुओं को हिन्दी में समझाया । इस दौरान सदन में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कुर्ता, पायजामा एवं मोदी जैकेट पहने हुए थे । सदन में इस दौरान केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, सुषमा स्वराज, नितिन गडकरी, रविशंकर प्रसाद, राधामोहन सिंह, सुरेश प्रभु, राम विलास पासवास, हरसिमरत कौर बादल समेत कई मंत्री एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी आदि मौजूद थे । 

सदन में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खडगे के अलावा सपा नेता मुलायम सिंह यादव, पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवेगौडा, बीजद नेता भृर्तुहरि महताब, तृणमूल नेता सुदीप बंदोपाध्याय मौजूद थे । 

बजट भाषण के दौरान गोयल ने जब आयकर छूट की सीमा को बढ़ाकर पांच लाख रूपये करने के प्रस्ताव की घोषणा की, तब प्रधानमंत्री मोदी समेत सत्ता पक्ष के सदस्यों ने मेज थपथपाकर इसका स्वागत किया । सत्ता पक्ष के सदस्यों ने इस दौरान करीब एक मिनट तक ‘मोदी, मोदी’ के नारे लगाए।

गोयल ने अपने बजट भाषण में मनोरंजन उद्योग के उल्लेख के दौरान फिल्म ‘उरी-द सर्जिकल स्ट्राइक’ का जिक्र किया और कहा कि फिल्म में बहुत जोश था।

बजट भाषण के दौरान गोयल जब मनोरंजन उद्योग के लिए किये गये प्रावधानों का जिक्र कर रहे थे तो उन्होंने कहा, ‘‘हमने हाल ही में उरी फिल्म देखी. बहुत मजा आया और उसमें जो जोश था, देखने लायक था।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘क्या जोश था, क्या माहौल था।’’ 

गोयल के इस बयान के बाद सदन में बैठे राजग के सभी सांसदों ने मेजें थपथपाईं और फिल्म में अहम रोल निभाने वाले भाजपा सदस्य परेश रावल को भी मुस्कराते हुए देखा गया। इस दौरान विपक्षी सदस्यों को टोकाटोकी करते देखा गया । 

पीयूष गोयल ने अंतरिम बजट पेश करते हुए कहा कि सरकार ने 2030 में 10 सर्वाधिक महत्‍वपूर्ण आयामों को सूचीबद्ध करते हुए अगले दशक के लिए अपनी परिकल्‍पना पेश की है। उन्‍होंने कहा कि हम एक ऐसे भारत का निर्माण करेंगे जहां गरीबी, कुपोषण, गंदगी और निरक्षरता बीते समय की बातें होगी। उन्‍होंने कहा कि भारत एक आधुनिक, प्रौद्योगिक से संचालित, उच्‍च विकास के साथ एक समान और पारदर्शी समाज होगा। 

वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने अंतरिम बजट पेश करते हुए जैसे ही छोटे एवं सीमान्त किसानों को राहत देने के लिए उन्हें 6,000 सालाना की न्यूनतम आय देने की योजना की घोषणा की तो बीजू जनता दल (बीजद) के सदस्यों ने एक दूसरे को बधाई दी क्योंकि नरेंद्र मोदी सरकार का यह कदम ओडिशा की नवीन पटनायक सरकार की ‘कालिया योजना’ से मिलता-जुलता है।

गोयल ने शुक्रवार को 2019-20 का बजट पेश करते हुए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (प्रधानमंत्री किसान योजना) की घोषणा की। इसकी घोषणा के साथ बीजद नेता भृर्तुहरि महताब ने खड़े होकर अपने साथी सदस्यों से हाथ मिलाया और बधाई दी। कांग्रेस और कुछ अन्य विपक्षी दलों के सदस्यों ने सरकार पर अंतरिम बजट पेश होने से पहले ही इसकी जानकारियां लीक करने का आरोप लगाते हुए हंगामा किया।

वित्त मंत्री पीयूष गोयल जैसे ही अंतरिम बजट पेश करने खड़े हुए उसी दौरान कांग्रेस और माकपा के सदस्य अपने स्थान पर खड़े हो गए और कहा कि जब जानकारी पहले ही लीक कर दी गई है तो अब बजट पेश करने का मतलब रह गया।

इस दौरान विपक्ष के कई सदस्यों ने उस मीडिया रिपोर्ट पर आधारित प्लेकार्ड लहराया जिसमें राष्ट्रीय नमूना सर्वेक्षण कार्यालय (एनएसएसओ) के हवाले से कहा गया है कि 2017-18 में बेरोजगारी दर 6.1 फीसदी रही जो पिछले 45 वर्षों की अवधि का उच्चतम स्तर है।

अंतरिम बजट पेश करने के दौरान तृणमूल कांग्रेस के सदस्यों ने भी बजट भाषण के बीच टोकाटोकी की। कांग्रेस के राजीव सातव को रोजगार की कमी के उल्लेख से जुड़ी तख्ती सत्ता पक्ष में अगली कतार की मेज पर रखते देखा गया । 

राजद से निष्कासित राजेश रंजन ऊर्फ पप्पू यादव को बजट भाषण समाप्त होने के दौरान अपनी मांगों से जुड़े पर्चे को पीयूष गोयल के पास रखते देखा गया ।

पीयूष गोयल जब बजट भाषण पढ़ रहे थे उस दौरान विशेष दर्शक दीर्घा में उनकी पत्नी सीमा गोयल मौजूद थी । इसके अलावा उनके परिवार के सदस्यों में शोभन लाल गोयल, शशि गोयल आदि मौजूद थे।

बजट भाषण समाप्त होने पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पीयूष गोयल के पास जाकर उनकी पीठ थपथपायी । इस दौरान भाजपा एवं राजग के घटक दलों के नेताओं को भी प्रधानमंत्री एवं वित्त मंत्री को बधाई देते देखा गया । 

बजट भाषण के दौरान तृणमूल कांग्रेस के इदरिश अली को ‘झूठ बोले कौवा काटे..’’ गाना गाते सुना गया । वहीं तृणमूल के ही कल्याण बनर्जी को कई बार जोर जोर से हंसते सुना गया । इस पर पीयूष गोयल ने कहा कि यह रामलीला के संदर्भ का स्मरण कराता है । 

DO NOT MISS