City News

एमपी: 'मौत' के तीन साल बाद अपने गांव लौटा युवक, इस डर से भाग गया था दिल्ली..

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

कोरोना वायरस लॉकडाउन के बीच, जहां लोग अपने घर नहीं जा पा रहे हैं वही एक युवक अपनी 'मौत' के तीन साल बाद घर लौट आया है। ये चौंकाने वाली घटना मध्य प्रदेश के छत्तरपुर से सामने आई है जहां उदय नाम का युवक तीन साल बाद अपने गांव दिलवारी वापस लौट आया है। 

क्या है पूरा मामला?

लगभग तीन साल पहले 2017 में, उदय अचानक अपने गांव से लापता हो गया था। उसके घरवालों ने उसे ढूंढने की बहुत कोशिश की लेकिन उन्हें मायूसी ही हाथ लगी। फिर पुलिस में उसकी गुमशुदगी की एफआईआर दर्ज कराई गयी। 

पुलिसकर्मी सीताराम अवसइया ने बताया कि जब उन्होंने अपनी खोजबीन शुरू की तो उन्हें एक कंकाल मिला। लोगों में संदेह पैदा हो गया कि क्या ये कंकाल उदय का तो नहीं? फिर युवक के पिता ने कंकाल से मिले कपड़े के एक टुकड़े से उसकी पहचान कर ली थी और मान लिया था कि ये कंकाल उनके बेटे का ही है। फिर सारे गांववाले इस बात को लेकर राज़ी हो गए कि उदय की मौत हो गई है।
 

उदय ने बताई अचानक गायब होने के पीछे की सच्चाई

उदय ने बताया कि वो तीन साल पहले दिल्ली भाग गया था। उसके मुताबिक, 'मैं दिल्ली इसलिए भाग गया था क्योंकि कुछ लोगों ने मेरे ऊपर चोरी का झूठा इल्जाम लगाने की कोशिश की थी जबकि ऐसा नहीं था। अब वापस आकर मैं बहुत खुश हूं।' उसे जिंदा देखकर उसके घरवालों की ख़ुशी का ठिकाना ही न रहा। पूरा गांव उसकी घर वापसी से हैरान है और खुश भी है। 

इस दौरान, पुलिसकर्मी सीताराम अवसइया ने कहा कि उन्हें केस फिर खोलना होगा और इसकी जांच करनी होगी कि वो कंकाल किसका था।

ये भी पढ़ें: एमपी कांग्रेस ने आर्थिक पैकेज पर उठाए सवाल, कहा- कम से कम GDP का 50% तो दीजिए

मध्य प्रदेश में कोरोना का कहर

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, राज्य (मध्य प्रदेश) में कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या गुरुवार को 4,426 तक पहुँच गई है। एक दिन में 253 नए संक्रमित मामले सामने आये हैं जिसमें से 131 मामले इंदौर जिले के हैं। उन्होंने कहा कि वायरस ने बीते दिन पांच और लोगों की जान ले ली है जिससे राज्य में मरने वालों की संख्या 237 हो गई।

साक्षी बंसल की रिपोर्ट