City News

गुजरात: महिला डॉक्टर पर कोरोना को लेकर की अभद्र टिप्पणी, दंपति गिरफ्तार

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

गुजरात के सूरत में एक महिला डॉक्टर पर कोरोना वायरस महामारी को लेकर टीका-टिप्पणी कर उसे कथित रूप से परेशान करने पर एक दंपत्ति को गिरफ्तार किया गया। एक पुलिस अधिकारी ने महिला डॉक्टर के आवेदन का हवाला देते हुए कहा कि चेतन मेहता और उसकी पत्नी भावना मेहता सिविल अस्पताल की इस डॉक्टर से कहते हैं कि कहीं आपको कोरोना वायरस संक्रमण तो नहीं हो गया है और दोनों उसे गालियां भी देते हैं। पुलिस के मुताबिक दंपति और डॉक्टर एक ही फ्लोर पर रहते हैं।

सूरत के सहायक पुलिस आयुक्त पी एल चौधरी ने कहा, 'पीड़िता केस दर्ज कराने के लिए तैयार नहीं थी। वहीं पुलिस ने सीआरपीसी की धारा 151 के तहत उसके आवेदन का संज्ञान लिया एवं चेतन एवं भावना को गिरफ्तार किया। उन्हें कार्यकारी मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया जाएगा जो अच्छे आचरण के आश्वासन के बाद उन्हें जमानत देंगे।'

डॉक्टर ने वीडियो किया शेयर

पुलिस गिरफ्त में आरोपी

डॉक्टर ने उत्पीड़न पर दो वीडियो बनाये और रविवार को उन्हें सोशल मीडिया पर डाल दिया। एक में चेतन मेहता डॉक्टर को गालियां देते हुए एवं गुस्से में दरवाजे को पीटता हुआ नजर आ रहा है। दूसरे वीडियो में डॉक्टर ने कहा कि उस पर कोरोना वायरस को लेकर टीका टिप्पणी की गयी।

डॉक्टर ने वीडियो में कहा, 'दो दिन पहले चेतन मेहता ने मुझसे पूछा कि कहीं मैं वायरस से संक्रमित तो नहीं हो गई हूं क्योंकि मैं सिविल अस्पताल में काम करती हूं। फिर, रविवार को उसकी पत्नी ने झूठ दावा किया कि मेरे कुत्ते ने उस पर हमला किया। चेतन ने दूसरों के सामने मुझे गालियां दीं।'

इसे भी पढ़ें: तबलीगी जमात के 25 हजार से ज्यादा सदस्यों को क्वारंटीन में रखा, हिमाचल में 97 जमातियों के खिलाफ केस दर्ज

उसने कहा, 'मुझे इसलिए निशाना बनाया गया क्येांकि मैं सिविल अस्पताल में डॉक्टर हूं जहां कोरोना वायरस के मरीजों का उपचार होता है।' सूरत पुलिस आयुक्त आर बी ब्रह्मभट्ट ने कहा कि यदि स्वास्थ्यकर्मियों का कोरोना वायरस मरीजों की सेवा करने को लेकर उत्पीड़न किया जाता है तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

इसे भी पढ़ें:  कोविड-19 संक्रमण के दौरान जरूरतमंदों की सहायता करें: PM मोदी ने भाजपा कार्यकर्ताओं से कहा