City News

पेट्रोल पंप कर्मियों की गुंडई LIVE, घपला का विरोध करने पर ग्राहक को दे.. दना.. दन

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

ये नज़ारा उत्तर प्रदेश के कानपुर का है. जहां एक पेट्रोल पंप पर कर्मियों ने दिन दहाड़े गुंडागर्दी का नमूना पेश किया. उपर दिए गए वीडियो को देख कर मसला समझ पाना बेहद आसान होगा. हालांकि वीडियो को देखकर इस बात का अंदाजा लगा पाना हर किसी के लिए बेहद मुश्किल होगा कि लड़ाई क्यों हो रही है. मारने वाले कौन हैं और पिटने वाले कौन..

आपको पूरा माजरा तफसील से समझाते हैं. दरअसल कानपुर देहात के एक पेट्रोल पंप पर अपनी गाड़ी में पेट्रोल डलवाने के लिए आए कुछ ग्राहक उस वक्त आग-बबूले हो गए, जब उन्हें इस बात का आभास हुआ कि उनकी गाड़ी में कीमत के मुताबिक कम पेट्रोल भरा गया है. उन्होंने इस बात का विरोध किया तो मामले ने तूल पकड़ लिया और देखते ही देखते नौबत मारपीट तक पहुंच गई.

बाइक में कम पेट्रोल पड़ने का ग्राहक ने विरोध किया तो इस बात पेट्रोल पंप के कर्मचारियों को रास नहीं आई. आरोप के तथ्यात्मक तरीके से खारिज करने के बजाय कर्मी अपनी गुंडई का नज़ारा पेश करने लगे. बहस बढ़ने लगी और मामले ने तूल पकड़ लिया. देखते ही देखते पेट्रोल पंप कर्मियों ने ग्राहक को तमाचे जड़ने शुरू कर दिए.

कहते हैं ग्राहक भगवान का रूप होते हैं. लेकिन कानपुर के इन पेट्रोल पंप कर्मियों ने तो 'भगवान' को ही पीट डाला. तमाचा, थप्पड़ और फिर दे.. दना.. दन... बात बिगड़ती गई. पेट्रोल भरवाने आए ग्राहक की सरेआम महज इस लिए पिटाई की जाने लगी क्योंकि उसने अपनी आशंका जाहिर की थी. उसको ऐसा लगता था कि उसने जिस पैसे को खून पसीने की मेहनत से कमाया है. उसे फिज़ूल तरीके से क्यों बर्बाद करे. 

अपने हक़ के लिए आवाज उठाने पर उसकी धुनाई होने लगती है. पिटाई तो पिटाई घर आए इस 'भगवान' (ग्राहक) को भद्दी भद्दी गालियां देकर नवाज़ा जाता है. वहां आस पास काफी लोग मौजूद थे. जब ये ग्राहक पिट रहा था तो उस वक्त लोग समझा रहे थे. लेकिन पेट्रोल पंप कर्मियों को किसी की समझाइश की जरुरत नहीं थी उन्हें तो अपनी माफियागिरी दिखानी थी. भला वो ऐसे कैसे रुकते.. घुसा, मुक्का और धुनाई करने के बाद ही कर्मियों का उबलता खून ठंडा पड़ा.

कुछ ही देर में वहां कई लोग इकट्ठा हो गए. इस बीच कुछ लोगों ने मोबाइल से वीडियो बना लिया. जिससे इन पेट्रोल पंप कर्मियों की करतूत बेनकाब हो गई. फिर वहां मौजूद ग्रामीणों ने ग्राहक को समझा बुझाकर घर भेज दिया. 

बता दें, ये गुंडई थाना मंगलपुर क्षेत्र के झींझक सैनिक फिलिंग स्टेशन के कर्मचारियों ने की.

DO NOT MISS