Accidents & Disasters

आंध्र प्रदेश के सीएम से PM मोदी ने की बात, हर संभव मदद का दिया भरोसा

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

गुरुवार सुबह आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम में एक रासायनिक संयंत्र से गैस का रिसाव होने के कारण करीब आठ लोगों की मौत हो गई और कई लोगों को अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। इस घटना के बाद से ही पूरे शहर में तनाव का माहौल बना हुआ है। NDRF और SDRF की टीम ने हालात को काबू में कर लिया है। बता दें, अभी तक उस इलाके के आसपास से 2,500 लोगों को निकाला जा चुका है।

वही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी हाताल पर अपनी नजर बनाए हुए हैं। पीएम मोदी ने आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी से फोन पर बात की है। उन्होंने मुख्यमंत्री जगन मोहन को हर संभव मदद का भरोसा दिया है।

वही गैस रिसाव को बेअसर कर दिया गया है। गैस का अधिकतम प्रभाव लगभग 1 से 1.5 किमी पर था लेकिन इसकी महक 2 से 2.5 किमी तक थी। पीटीआई के मुताबिक 100 से 120 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मुख्यमंत्री जगन मोहन ने अधिकारियों को पीड़ितों की हर संभव मदद करने के निर्देश दिए हैं।

पीएम मोदी विशाखापट्टनम गैस हादसे पर (NDMA) राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण संग बैठक में हुए शामिल।

वही कई राजनेताओं ने इस घटना पर दुख जताया है। राष्ट्रपति से लेकर कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने ट्वीट करके मृतकों के परिवार वालों के प्रति अपनी संवेदना प्रकट की है।

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने लिखा कि, 'विशाखापत्तनम के पास एक संयंत्र में गैस रिसाव की खबर से दुखी हूं, जिससे कई लोगों की जान चली गई है। पीड़ित परिवारों के प्रति मेरी संवेदना है। मैं घायलों के ठीक होने की कामना करता हूं।' 'मुझे विश्वास है कि प्रशासन जल्द से जल्द स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए हर संभव कोशिश कर रहा है।'

गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'विशाखापत्तनम की घटना परेशान करने वाली है। एनडीएमए के अफसरों और संबंधित अधिकारियों से बात की है। हम निरंतर स्थिति पर नजर रख रहे हैं।'