Accidents & Disasters

मध्यप्रदेश में क्या कानून पर भारी पड़ गया है 'क्राइम'? सतना में 5 दिन और 5 मासूमों का अपहरण

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

मध्य प्रदेश के सतना में पिछले पांच दिनों में पांच बच्चो का अपहरण हो गया है। ताजा मामले में कल भी एक बच्चे का अपहरण हुआ है। जबकि एक बच्चे का अपहरण कर कत्ल कर दिया गया। कोतमा थाना इलाके में एक गेस्ट टीचर के साथ गैंगरेप की वारदात सामने आई है।

ऐसे में कमलनाथ सरकार में कानून व्यवस्था को लेकर सवाल उठने लग गए हैं। कमलनाथ सरकार के राज में आए दिन बच्चों के अपहरण की वारदात की ख़बरें सामने आ रही हैं कमलनाथ के राज में अपराधियों के हौसले बुलंद हैं।

गौरतलब है कि पिछले महीने चित्रकूट में इन दोनों बच्चो का अपहरण कर लिया गया था, जिसके बाद यूपी में इन बच्चों का शव बरामद हुआ था। इस घटना के बाद पूरे मध्यप्रदेश में सरकार के खिलाफ प्रदर्शन हुए थे। लोग सड़कों पर उतर आए थे, लेकिन इस वारदात के बाद भी एमपी की कमलनाथ सरकार सोई हुई है।

कानून व्यवस्था चरमरा गई है, बच्चों के अपहरण और कत्ल की वारदातें थमने का नाम नहीं ले रही हैं। सतना जिले के रहिकवारा गांव का है जहां 6 साल के मासूम का अपहरण किया गया। अकेले सतना जिले में 5 दिन में 5 बच्चों का अपहरण किया गया है। एक बच्चे के अपहरण के बाद 2 लाख की फिरौती मांगी गई, फिरौती नहीं मिलने पर बच्चे का शव बरामद हुआ। अपहरण किए बच्चों में तीन मासूमों की उम्र 7 साल से कम है, 2 बच्चों की उम्र 12 और 13 साल है।

इन घटनाओं के बाद कमलनाथ सरकार सवालों के घेरे में है - बीजेपी ने कमलनाथ सरकार पर हमला बोला है पूर्व सीएम शिवराज सिंह ने ट्वीट कर लिखा है। 

'कल सतना ज़िले से अपहरण हुए बालक की निर्दयतापूर्वक हत्या कर दी गई.... ये बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। ईश्वर से प्रार्थना है कि उस बेटे की दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करें व परिजनों को इस गहन दुःख को सहने की शक्ति दें। धिक्कार है ऐसी सरकार पर जो मासूमों की जान भी नहीं बचा सकती!'

वहीं बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय ने लिखा कि असुरक्षित मध्यप्रदेश !!! सतना में बालक की हत्या निंदनीय है। उससे ज्यादा अफ़सोस इस बात का कि प्रदेश की कानून व्यवस्था रसातल में चली गई...पुलिस से ज्यादा गलती नकारा कमलनाथ सरकार की है।

बच्चों के अपहरण का मामला ही नहीं कोतमा थाना इलाके में 23 साल की गेस्ट टीचर के साथ गैंगरेप की वारदात सामने आई है। तीन लोगों पर गैंगरेप का आरोप है, आरोपी फरार हैं। 

एमपी में अपराध की बड़ रही घटनाओं से सरकार और पूरा का पूरा सिस्टम सवालों के घेरे में है। मध्यप्रदेश में लगातार अपराध की वारदातें बढ़ रही है लेकिन कमलनाथ सरकार अपराध और अपराधियों पर लगाम लगाने में विफल रही है।

DO NOT MISS