Accidents & Disasters

SUPER EXCLUSIVE: मुंबई हादसे पर BMC की रिपोर्ट में हुआ बड़ी गड़बड़ी का खुलासा, सबूत बनीं ये तस्वीरें

Written By Neeraj Chouhan | Mumbai | Published:

मुंबई में जिस वक्त हर ज्यादातर लोग रोजमर्रा का काम खत्म करने के बाद घर की ओर लौट रहे थे, उस वक्त 'मौत का पुल' बन चुका सीएसटी रेलवे स्टेशन के पास फुटओवर ब्रिज कहर बनाकर लोगों टूट पड़ा और करीब 6 लोगों को मौत की नींद सुला दिया।  मुबंई में मौत के पुल से।।6 लोगो की मौत हो गई और 30 से ज्यादा लोग घायल हो गए।। लेकिन रिपब्लिक भारत के पास बीएमसी की शुरुआती जांच की वो एक्सक्लसिव तस्वीरे हैं।

मुंबईकरों की जिंदगी कितनी सस्ती है। भारी-भरकम टैक्स देने के बावजूद उन्हें सुरक्षा भी नसीब नहीं है। मुंबईकर रोजाना अपनी जान हथेली पर लेकर सफर करते हैं। मुंबई में कब क्या हो जाए, कोई नहीं कह सकता है। कभी फुटपाथ पर सोए लोग गाड़ियों के नीचे आ जाते हैं। तो कभी ब्रिज गिरने की वजह से कई लोग बेवक्त दुनिया छोड़ देते हैं।

गुरुवार शाम भी कुछ ऐसी ही दिल दहलाने वाली तस्वीरें सामने आई। छत्रपति शिवाजी रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर 1 और TOI बिल्डिंग के बीच बना एक फुटओवर ब्रिज का 60 फीसदी हिस्सा टूटकर अचानक गिर पड़ा। इस हादसे में 6 लोगों की मौत हो गई वहीं 33 लोग घायल हो गए।

जैसे हमेशा होता है, वैसा ही इस बार भी हुआ। बेमौत मारे गए लोगों के परिवारों के प्रति संवेदनाओं को प्रकट का सिलसिला शुरू हो गया। लेकिन इस हादसे में अपनों को खो चुके हैं परिजनों को गुस्से से भर दिया।

इसी बीच फुटओवर ब्रिज हादसे की जांच में जुटी मुंबई पुलिस ने भी प्रारंभिक रिपोर्ट सौंप दी। इस रिपोर्ट में बीएमसी अधिकारियों को हादसे का जिम्मेदार ठहराया गया। मुंबई पुलिस ने इस मामले में दर्ज एफआईआर से रेलवे का नाम हटाने की भी वकालत कर दी। कुछ समय पहले जब अंधेरी में पुल हादसा हुआ था तब BMC ने इस पुल के भी ऑडिट का आदेश दिया था।

6 महीने पहले की ऑडिट रिपोर्ट में ये खुलासा हुआ था कि पुल में कई जगह दरार थी। इसके अलावा पुल पर स्लैब की हालत खराब थी। यही नहीं, स्लैब में लगा लोहा भी बाहर आ गया था। इसके अलावा पुल की सीढ़ियों की हालत भी खास्ता थी। ऑडिटर ने टूटे स्लैब को बदलने का भी सुझाव दिया था।  यही नहीं, जंग से बचाव की भी सलाह दी गई थी। ऑडिट रिपोर्ट में पुल की रेलिंग की हालत को लेकर भी चेतावनी जारी की गई थी। BMC ने ऑडिट करने वाली कंपनी से फोटो भी खिंचवाई थी।

रिपब्लिक भारत के पास वो तस्वीरें भी मौजूद हैं। जिससे ये साफ होता कि पुल पहले से ही जर्जर हालत में था। लेकिन हादसे के बाद BMC ने पुलिस के सामने ऑडिट करने वाली कंपनी पर सवाल उठा दिए। यानी साफ तौर ऑडिट रिपोर्ट को लेकर झूठ बोला। 
 

DO NOT MISS