PC: PTI
PC: PTI

Accidents & Disasters

'अम्फान' शाम तक विकराल चक्रवात का रूप ले सकता है: गृह मंत्रालय

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

चक्रवाती तूफान ‘अम्फान’ सोमवार शाम तक विकारल रूप धर सकता है और बुधवार को 185 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली हवाओं के साथ यह पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश तट से टकरा सकता है। गृह मंत्रालय ने यह जानकारी दी है। मंत्रालय ने पश्चिम बंगाल और ओडिशा सरकारों को जारी परामर्श में कहा कि ‘अम्फान’ अब दक्षिणी बंगाल की खाड़ी के मध्य हिस्सों और बगल की मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर मौजूद है।

मंत्रालय ने कहा कि यह पिछले छह घंटों से 13 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उत्तर की ओर बढ़ रहा है। भारत मौसम विभाग के बुलेटिन का हवाला देते हुए गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि वर्तमान में यह चक्रवात दक्षिणी बंगाल की खाड़ी से लगे पश्चिम-मध्य और मध्य हिस्सों के ऊपर है जो पारादीप (ओडिशा) से करीब 790 किलोमीटर दक्षिण, दीघा (पश्चिम बंगाल) से 940 किलोमीटर दक्षिण-दक्षिणपश्चिम और खेपुपारा (बांग्लादेश) से 1060 किलोमीटर दक्षिण-दक्षिणपश्चिम में है।

अधिकारी ने कहा कि यह तूफान सोमवार शाम तक प्रचंड चक्रवाती तूफान का रूप ले सकता है। अधिकारी ने कहा कि संभवत: यह उत्तरपश्चिम बंगाल की खाड़ी के पास उत्तर-उत्तरपूर्वी दिशा की तरफ बढ़ेगा और 20 मई को दोपहर या शाम के दौरान अत्यंत प्रचंड तूफान के रूप में बांग्लादेश में हटिया द्वीप और पश्चिम बंगाल के दीघा के बीच पश्चिम बंगाल एवं बांग्लादेश तट के बीच से गुजरेगा। इस दौरान 155-165 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी जो कभी भी 185 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार पकड़ सकती हैं।

इसे भी पढ़ेंं: चक्रवाती तूफान 'अम्फान' को लेकर PM मोदी ने बुलाई बैठक

राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन समिति (एनसीएमसी) ने आसन्न चक्रवात की तैयारियों की शनिवार को समीक्षा की और तूफान से प्रभावित होने वाले पश्चिम बंगाल और ओडिशा को तत्काल सहायता देने का निर्देश दिया। कैबिनेट सचिव राजीव गौबा की अध्यक्षता में एनसीएमसी की बैठक, चक्रवात की तैयारियों का जायजा लेने के लिए हुई थी। 

एक आधिकारिक बयान में बताया गया कि कैबिनेट सचिव ने मौजूदा स्थिति और राहत एवं बचाव कार्यों की तैयारी की समीक्षा की तथा तत्काल जरूरी सहायता देने का निर्देश दिया। क्षेत्र में तेज हवाओं के साथ भारी से अत्यंत भारी बारिश और ज्वारभाटा आने का अनुमान है।