Television News

‘रामायण’ फेम दीपिका चिखलिया ने दिया रामजन्मभूमि से शिवलिंग और खंडित मूर्तियां मिलने पर सुझाव

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

गुरुवार को रामजन्मभूमि परिसर से शिवलिंग, खंडित मूर्तियों और विभिन्न कलाकृतियों के मिलने पर ‘रामायण’ फेम अभिनेत्री दीपिका चिखलिया ने ख़ुशी ज़ाहिर की है। उन्होंने सोशल मीडिया के जरिए लिखा है कि अयोध्या की इस पवित्र भूमि से मिले अवशेषों का सम्मान होना चाहिए और इन्हें म्यूजियम में रखा जाना चाहिए।

उन्होंने शुक्रवार को अमेरिकी लेखक डेविड फ्रॉले के ट्वीट पर अपनी प्रतिक्रिया दी। डेविड ने लिखा था-“अयोध्या फिर से विनाशकारी आक्रमणकारियों और पक्षपाती इतिहासकारों की परछाई से उभर रही है। स्थल से मिली पवित्र कलाकृतियां और मंदिर के खंडहर एक म्यूजियम में रखे जाने चाहिए ताकि लोग भारत के सबसे प्रसिद्ध प्राचीन शहर का वास्तविक इतिहास देख सकें।“

दीपिका ने भी उनकी बात दोहराई और लिखा-“अयोध्या या भारत के किसी भी हिस्से से पाई जाने वाली कोई चीज़ जो भगवान राम के शासन से जुड़ी हुई है, उसे पूरे सम्मान के साथ म्यूजियम में रखा जाना चाहिए।“

वैसे ये देखना काफी दिलचस्प होगा कि शो में राम का किरदार निभाने वाले अभिनेता अरुण गोविल इस मामले पर क्या कहते हैं। कुछ दिन पहले उन्होंने ट्विटर पर एक सवाल का जवाब देते हुए राम मंदिर के ऊपर बात की थी। उनसे पूछा गया था-“राम मंदिर का मामला सुलझ चुका है। मंदिर का निर्माण कार्य शुरू हो चुका है। और अब रामायण का प्रसारण, क्या अब हम रामराज्य की कल्पना कर सकते हैं?”

अरुण ने जवाब देते हुए लिखा-“हम सबने शुरुआत तो कर दी है रामराज्य की सही परिभाषा समझने की। यदि हम राम जी के व्यक्तित्व के तीन गुण - संकल्प, संयम और मर्यादा को अपना लें तो हम सब अपने देश के लिए कुछ भी कर सकते हैं।”

बता दें कि रामजन्मभूमि परिसर में भव्य राममंदिर निर्माण के लिए 11 मई से समतलीकरण का काम चल रहा है। ये काम श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की देखरेख में किया जा रहा है। गुरुवार को खुदाई के दौरान मंदिर स्थल से कई अवशेष मिले थे।

इसमें पांच फुट की शिवलिंग, खंडित मूर्तियां, पुष्प, कलश, विभिन्न कलाकृतियां, मेहराब के पत्थर, 7 ब्लैक टच स्टोन के स्तंभ, 8 रेड सैंड स्टोन के स्तंभ, आमलक और विभिन्न प्रकार के पत्थर शामिल हैं। ट्रस्ट इन पुरातात्विक वस्तुओं को संरक्षित करने की भी योजना बना रही है। 

ये भी पढ़ें: रामजन्मभूमि परिसर में मिले मंदिर के अवशेष, शिवलिंग और खंडित मूर्तियां: संत समाज में ख़ुशी की लहर, कहा- 'भगवान ने खुद प्रमाण दे दिया'

स्वामी चक्रपाणि महाराज ने रिपब्लिक टीवी से बात करते हुए बताया कि अवशेषों का मिलना उन लोगों के मुंह पर एक जोरदार तमाचा है जो राम मंदिर के फैसले पर सवाल उठा रहे थे। उन्होंने कहा कि अब खुद आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ़ इंडिया ने राम मंदिर के होने का प्रमाण दे दिया है।

वही राम जन्मभूमि के मुख्य पुजारी आचार्य सतेंद्र दास ने कहा कि  संत कभी झूठ नहीं बोलते और इसका सबूत आज खुदाई के दौरान मिल गया है। 

साक्षी बंसल की रिपोर्ट