Bollywood News

सोनम कपूर ने पटाखे फोड़ने पर जताया गुस्सा, अशोक पंडित ने किया कटाक्ष

Written By Digital Desk | Mumbai | Published:

कल रात पीएम मोदी की अपील का पालन करते हुए सभी देशवासियों ने रात 9 बजे 9 मिनट तक दीया, मोमबत्ती और फ़्लैशलाइट जलाकर एकजुटता का प्रमाण दिया था। हालांकि, कुछ अतिउत्साही लोग ऐसे भी थे जिन्होंने पटाखे फोड़ कर सारा माहौल खराब कर दिया। ऐसे लोगों पर बॉलीवुड अभिनेत्री सोनम कपूर ने ट्विटर पर गुस्सा जताया है।

उन्होंने लिखा-“लोग पटाखे फोड़ रहे हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दूँ, कुत्ते डर रहे हैं। क्या लोग इसे दिवाली समझ रहे हैं? मैं बहुत उलझन में हूँ।"

जैसे ही अभिनेत्री ने अपना ट्वीट साझा किया, फिल्म निर्माता अशोक पंडित ने जवाब देते हुए उन पर कटाक्ष किया, "सोनम जी, पटाखे जश्न के दौरान फोड़े जाते  हैं और न केवल दिवाली में? लोग इन मुश्किल समय में खुश रहने की कोशिश कर रहे हैं। वे कम से कम तबलीगी जमात की तरह वायरस तो नहीं फैला रहे। काश आप पटाखे फोड़ने की तुलना में, आतंकवाद के इस कृत्य की निंदा करती।"

बाद में, पंडित को मुंहतोड़ जवाब देते हुए अभिनेत्री ने लिखा-“सोशल डिस्टेंसिंग जरुरी है अशोक जी। यह भी सुनिश्चित करना चाहिए कि सांप्रदायिक भयावहता ना हो। ताकि सरकार अच्छा करने पर ध्यान केंद्रित कर सके जैसे वे कर रहे हैं। मुझे यकीन है कि आप सहमत होंगे। आप एक समझदार आदमी हैं जो अच्छे और दयालु होने में विश्वास रखते हैं।”

उन्होंने आगे कहा, "मुझे यकीन है कि आपने सिर्फ एकजुटता और आशा के लिए दीपक जलाया होगा और जश्न में पटाखे नहीं फोड़े होंगे। आप उस तरह के आदमी नहीं हैं।“

जिस पर फिल्म निर्माता ने लिखा, "हम सभी को अपने और दूसरों के लिए सामाजिक दूरी बनाए रखनी है। अभी भी तबलीगी जमात और उनके आतंकवाद पर आपकी प्रतिक्रिया का इंतजार कर रहा हूँ। वे बहुत सारी मौत के लिए जिम्मेदार हैं। वे आतंकवादी हैं। तो बातों को नहीं घुमाते हैं और उनकी निंदा करते हैं।"

"हाँ, मैंने आपकी तरह एक दीपक जलाया और सभी के लिए शांति और अच्छे स्वास्थ्य को वापस लाने के लिए सर्वशक्तिमान से प्रार्थना की। मैंने तबलीगी जमात  जैसी ताकतों के विनाश के लिए भी प्रार्थना की जो समाज के लिए एक खतरा हैं।"

उनके ट्वीट के जवाब में, सोनम ने लिखा, "मैं बातों को नहीं घुमा रही हूँ। जैसा मैंने कहा, सोशल डिस्टेंसिंग बहुत जरूरी है। और कोई भी जो इसका पालन नहीं करेगा चाहे वो हिंदू हैं या मुस्लिम या ईसाई है या सिख- गलत है। मुझे यकीन है कि आप सहमत होंगे। आपके पास अभी करने के लिए बहुत महत्वपूर्ण चीजें होंगी। मुझे लगता है कि हम दोनों ने अपनी बात कह दी है।"

साक्षी बंसल