Bollywood News

मुश्किलों में घिरी फिल्म 'राम जन्मभूमि', राजा एकेडमी ने वसीम रिजवी के खिलाफ दर्ज कराई शिकायत

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

देश के सबसे विवादित मुद्दा  राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद पर बन रही फिल्म 'राम जन्मभूमि' के ट्रेलर शुरू होने के बाद से ही विवादों में घिर गई है. फिल्म की कहानी पर आपत्ति  जताते हुए सुन्नी समर्थक राजा एकेडमी ने उत्तर प्रदेश शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है. 

मुंबई में दर्ज कराई इस शिकायत में फिल्म में सुन्नी मुसलमानों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाई गई है.  बता दें, इस फिल्म को रिजवी ही प्रोड्यूस कर रहे हैं. 

गौरतलब है कि बीते सोमवार को ही फिल्म का ट्रेलर लॉन्च हुआ  था. इस मौके पर मीडिया कर्मी से बात करते हुए रिजवी ने कहा था कि वह स्वयं ही इस फिल्म के लेखक और निर्माता हैं. सनोज मिश्रा के निर्देशन में बनी इस फिल्म में रिजवी ने अभिनय भी किया है.

उन्होंने बताया कि मुगल वंश के संस्थापक बाबर के कुछ भटके हुए समर्थक 16वीं सदी में अयोध्या में मीर बाकी द्वारा बनाये गये विवादित ढांचे के नाम पर देश का माहौल खराब कर रहे हैं.

रिजवी ने कहा कि मीर बाकी शिया था, लिहाजा बाबरी मस्जिद शिया वक्फ बोर्ड की सम्पत्ति है. बोर्ड का अध्यक्ष होने के नाते वह इस जमीन पर अपना दावा छोड़ रहे हैं और मंदिर बनाने की मांग कर रहे हैं. उन्होंने मसले के दोनों पक्षों को साथ लाकर विवादित स्थल पर मंदिर बनाने और लखनऊ में ‘मस्जिद-ए-अमन‘ बनाने का प्रस्ताव दिया था लेकिन कट्टरपंथियों के शोर में उनकी आवाज दब गयी.

उन्होंने दावा किया कि फिल्म ‘राम जन्मभूमि‘ में 30 अक्टूबर से दो नवम्बर 1990 के बीच की उन घटनाओं को आधार बनाकर फिल्माया गयी है, जब निहत्थे कारसेवकों पर गोलियां चलायी गयी थीं.

रिजवी ने दावा किया कि अगले महीने के अंत में रिलीज होने जा रही इस फिल्म में किसी समुदाय पर निशाना नहीं साधा गया है. बल्कि इसमें तीन तलाक और हलाला जैसी सामाजिक बुराइयों को जाहिर किया गया है. करीब सवा दो घंटे की इस फिल्म में मनोज जोशी, गोविंद नामदेव, नाजनीन पाटनी और राजवीर सिंह ने अहम किरदार निभाये हैं. 

(इनपुट - भाषा)

DO NOT MISS