Bollywood News

कॉन्ट्रोवर्सी में घिरे नसीरुद्दीन शाह ने दी सफाई, ''मैंने ऐसा क्या कह दिया जो मुझे गद्दार ठहराया जा रहा है''

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

अपने बयान से विवादों में घिरे अभिनेता नसीरुद्दीन शाह ने मीडिया के सामने अपनी सफाई पेश की है. उन्होंने इस कॉन्ट्रोवर्सी पर चिंता जाहिर करते हुए अभिनेता ने कहा है कि पता नहीं मुझे क्यों गद्दार ठहराया जा रहा है.

दरअसल गुरुवार को गाय पर दिए अपने बयान को लेकर नसीरुद्दीन सवालों के कटघरे में आ गए हैं. जिसके बाद उन्हें मीडिया से रुबरू होकर सफाई पेश करनी पड़ रही है.

मीडिया के सामने नसीरुद्दीन ने कहा, ''मुझे मालूम नहीं क्यों.. जो मैंने बात कही वो एक चिंतित भारत वासी के हैसीयत से कही है. मैं पहले भी कह चुका हूं. मुझे नहीं मालूम कि इस दफा ऐसा क्या कह दिया कि मुझे गद्दार ठहराया जा रहा है. अजीब बात है. 

कांग्रेस सपोर्ट कर रही है और बीजेपी की आलोचना की आलोचना वाले सवाल पर उन्होंने बोला कि हां अब वो (बीजेपी) तो ये कहेंगे ही. पर सच बात तो ये है कि फिर ये भी आप कह सकते हैं कि विराट कोहली की आलोचना करने के लिए मुझे ऑस्ट्रेलियन टीम ने कहा था. 

गौरतलब है कि इस बयान के बाद योग गुरू बाबा रामदेव ने भी शाह की आलोचना की है. जिसका जवाब देते हुए अभिनेता नसीरुद्दीन ने कहा, ''अब आलोचना तो सहनी ही पड़ेगी तो अगर उनको आलोचना करने का हक़ है तो मुझे भी है न... मैं अपने मुल्क जिससे मैं प्यार करता हूं जो मेरा अपना घर है. मैं उसके बारे में बात कह रहा हूं. अपना फिक्र जाहिर कर रहा हूं. इसमें कौन सा मैंने गुनाह कर दिया?''

उनसे मीडिया ने ये भी सवाल किया कि क्या आपका कभी सामना हुआ है हिंदू-मुस्लिम विवाद से?

उन्होंने इस सवाल पर सीधा जवाब देते हुए ये कह दिया कि नहीं.. कभी नहीं हुआ... 

गौरतलब है कि नसीरुद्दीन शाह ने बुलंदशहर में भीड़ की हिंसा में पुलिस निरीक्षक सुबोध कुमार सिंह की मौत की ओर स्पष्ट इशारा करते हुए कहा है, "लोगों को कानून अपने हाथों में लेने की खुली छूट मिल गई है. कई इलाकों में हम देख रहे हैं कि एक पुलिस अफसर की मौत के बनिस्बत एक गाय की मौत को ज्यादा अहमियत दी जाती है.''

अभिनेता नसीरुद्दीन शाह ने कहा था कि कई जगहों पर एक गाय की मौत को एक पुलिस अधिकारी की हत्या से ज्यादा तवज्जो दी गई. अभिनेता ने अपने बच्चों की सुरक्षा को लेकर भी चिंता जताई. उनका कहना है कि उन्होंने अपने बच्चों को किसी खास धर्म की शिक्षा नहीं दी है.

इसे भी पढ़ें- अभिनेता नसीरुद्दीन शाह ने कहा, ''गाय की मौत को पुलिस अधिकारी की हत्या से ज्यादा तवज्जो दी गई''

अभिनेता का कहना था कि ‘जहर फैलाया जा चुका है’ और अब इसे रोक पाना मुश्किल होगा.

नसीरुद्दीन ने अपनी सफाई उस वक्त दी जब वो एक साहित्य सम्मेलन में भाग लेने गए थे. लेकिन बीजेपी के कुछ कार्यकर्ताओं ने वहां विरोध प्रदर्शन किया. एक कार्यकर्ता ने सम्मेलन स्थल के बाहर नसीरुद्दीन के पोस्टर पर स्याही फेंकी.

इसे भी पढ़ें- नसीरुद्दीन शाह के समर्थन में कांग्रेस नेता चव्हाण बोले, "डर के माहौल में जी रहे धर्मनिरपेक्ष लोग"

DO NOT MISS