Bollywood News

Meena Kumari: गूगल ने डूडल बनाकर एक्ट्रेस मीना कुमारी को किया याद, पढ़ें उनके दिलचस्प किस्से ..

Written By Gaurav Kumar | Mumbai | Published:

भारतीय सिनेमा की मशहूर अदाकारा मीना कुमारी की आज 85वीं जयंती है. इस मौके पर गूगल ने डूडल बनाकर उन्हें याद किया. मीना कुमारी का भारतीय सिनेमा जगत में अहम योगदान रहा है. लोग उन्हें ट्रेजडी क्वीन के नाम से भी याद करते हैं. मीना कुमारी का जन्म एक अगस्त 1933 को हुआ था. कहा जाता है कि बचपन में ही उनके पिता उन्हें फिल्मों में काम करते हुए देखना चाहते थे. बता दें, मीना कुमारी का असली नाम महजबीन बानो था. जिसे एक प्रोड्यूसर ने बदलकर मीना कुमारी कर दिया था.

मीना कुमारी को आर्थिक तंगी की वजह से बाल कलाकार बनना पड़ा और जब एक बार उन्होंने फिल्मों में कदम रखा तो उसके बाद उन्होंने कभी भी पीछे मुड़कर नहीं देखा. बॉलीवुड में उनकी जोड़ी गुरु दत्त के साथ काफी पसंद की गई. अपने 30-32 साल के फिल्मी करियर में उन्होंने लगभग 90 फिल्मों में काम किया. 

सुपरहिट फिल्म  'साहब बीबी और गुलाम' के लिए मिला था अवार्ड -

मीना कुमारी की कुछ सुपरहिट फिल्मों में साल 1957 में आई ''मिस मैरी'' फिर ‘शारदा’ इसके अलावा साल 1971 में आई उनकी फिल्म ''मेरे अपने'', 1972 में आई ''पाकीजा'' लोगों द्वारा काफी पसंद की गई. 

वहीं साल 1962 में आई मीना कुमारी और गुरु दत्त की 'साहब बीबी और गुलाम' दर्शकों द्वारा काफी पसंद की गई. ये वहीं फिल्म थी जिसमें बेहतरीन अभिनय के लिए उन्हें फिल्मफेयर बेस्ट एक्ट्रेस का अवार्ड मिला था. फिल्मों के अलावा मीना कुमारी को शायरी पढ़ना और लिखना बेहद पसंद था. उनके द्वारा कई शायरी लिखी गई थी. जैसे-

 "रात देखा करेगा सदियों तक .. छोड़ जाएंगे ये जहाँ तन्हा..'' 

''दिन डूबे हैं या डूबी बारात लिए कश्ती, साहिल पे मगर कोई कोहराम नहीं होता ..''

सबसे ज्यादा फीस लेने वाली एक्ट्रेस थीं मीना कुमारी -

बताया जाता है कि मीना कुमारी अपने समय में सबसे ज्यादा फीस लेने वाली एक्ट्रेस में शुमार थीं. उनकी डिमांड फिल्म इंडस्ट्री में काफी ज्यादा थी. मीना कुमारी को उनके पति कमाल अमरोही ने तलाक दे दिया था. जिसकी वजह से उन्हें काफी धक्का पहुंचा.

उस दौरान मीना कुमारी ने लिखा था, ''तलाक तो दे रहे हो नजर-ए-कहर के साथ, जवानी भी मेरी लौटा दो मेरे मेहर के साथ.'' अपने अंतिम दिनों में मीना को आर्थिक तंगी से भी गुजरना पड़ा था. वहीं 30 मार्च 1972 को मीना कुमारी के हम सबको अलविदा कह दिया.

DO NOT MISS