Bollywood News

शाहरुख खान की फिल्म 'ZERO' के खिलाफ दायर याचिका पर 30 नवंबर को सुनवाई

Written By Ayush Sinha | Mumbai | Published:

बॉलीवुड के KING कहे जाने वाले शाहरुख खान की आने वाली फिल्म ZERO के खिलाफ दायर याचिका पर मुंबई हाईकोर्ट 30 नवंबर को सुनवाई करेगा. इस याचिका में दावा किया गया है कि फिल्म के ट्रेलर से सिख समुदाय की भावनाएं आहत हुई हैं. दरअसल कुछ ही दिनों पहले फिल्म ZERO का ट्रेलर रिलीज हुआ था. जिसके बाद फिल्म  से जुड़े एक पोस्टर को लेकर विवाद पैदा हो गया.

वकील अमृतपाल सिंह खालसा ने इस महीने की शुरुआत में याचिका दायर कर न्यायालय से फिल्म के निर्देशक और निर्माताओं से इस सीन को हटाने का निर्देश देने को कहा था. जिसमें शाहरुख ‘कृपाण’ पहने दिखते हैं. इस याचिका में दावा किया गया है कि फिल्म के ट्रेलर से सिख समुदाय की भावनाएं आहत हुई हैं.

याचिका में केन्द्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) से भी फिल्म को प्रमाणपत्र ना देने और अगर दे दिया गया है तो उसे रद्द करने की अपील की गई है. खालसा ने सोमवार को न्यायमूर्ति बी पी धर्माधिकारी और न्यायमूर्ति एस वी कोतवाल की एक खंडपीठ के समक्ष याचिका का जिक्र किया, जिस पर सुनवाई के लिए 30 नवम्बर की तारीख तय की गई.

याचिका में कहा गया है कि फिल्म के ट्रेलर में शाहरुख खान बनियान और शॉर्ट्स के साथ गले में 500 के नोटों की माला पहने और गले में तिरछी ‘कृपाण’ डाले नजर आ रहे हैं. खालसा का कहना है कि कृपाण सिर्फ ‘रहमत मर्यादा’ (सिख धर्म अपनाने) के बाद ही पहनी जाती है.

इसके अलावा कुछ दिनों पहले ही अकाली दल के नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने भी फिल्म ZERO के एक्टर शाहरुख खान, डायरेक्टर आनंद एल राय एवं अन्य लोगों के खिलाफ धार्मिक भावनाओं को आहत करने को लेकर पुलिस में लिखित शिकायत दर्ज कराई थी. दिल्ली सिख गुरुद्वारा मैनेजमेंट कमेटी (DSGMC) के जनरल सेक्रेटरी सिरसा ने भी अपनी शिकायत में फिल्म के प्रोमो में शाहरुख खान के द्वारा एक फोटो में गातरा कृपाण पहनने को लेकर आपत्ति जताई थी.

इसे भी पढ़ें : शाहरुख खान की फिल्म ZERO की बढ़ी मुश्किलें, मनजिंदर सिंह सिरसा ने सिखों की धार्मिक भावनाएं आहत करने का लगाया आरोप

गौरतलब है कि शाहरुख खान की फिल्म ZERO का पोस्टर और ट्रेलर रिलीज हो चुका है. फिल्म 21 दिसंबर को रिलीज होने वाली है.

DO NOT MISS