Bollywood News

साल 2019 : भारतीय सिनेमा में रह गईं कई हस्तियों की केवल यादें

Written By Press Trust of India (भाषा) | Mumbai | Published:

भारतीय सिनेमा ने समाप्त हो रहे साल 2019 में अपनी कई चर्चित हस्तियों को खो दिया और उनके प्रशंसकों के दिलों में केवल उनकी यादें ही शेष रह गईं। साल 2019 की शुरुआत फिल्म जगत के लिए कादर खान के बिना हुई। 1973 में राजेश खन्ना की ‘दाग’ फिल्म के साथ करियर की शुरूआत करने वाले कादर खान ने 300 से अधिक फिल्मों में काम किया और 250 से अधिक फिल्मों के लिए संवाद लिखे।

‘शराबी’, ‘लावारिस’, ‘कुली’ से ले कर ‘राजा बाबू’ और ‘हसीना मान जाएगी’ जैसी फिल्मों में कॉमेडी से लोगों को हंसाने वाले कादर खान ने 31 दिसंबर 2018 को आखिरी सांस ली।

बहुमुखी प्रतिभा के धनी कलाकार गिरीश कर्नाड का 10 जून को 81 साल की उम्र में निधन हो गया। लेखक, अभिनेता और निर्देशक कर्नाड के नाटक ‘ययाति’, ‘तुगलक’ और ‘नाग मंडल’ का उनकी मूल कन्नड़ भाषा से अंग्रेजी और अन्य भारतीय भाषाओं में अनुवाद हुआ।

पद्मश्री, पद्मभूषण और ज्ञानपीठ अवार्ड से सम्मानित कर्नाड ‘स्वामी’ और ‘निशांत’ के साथ साथ ‘एक था टाइगर’, ‘टाइगर जिंदा है’ और ‘शिवाय’ जैसी फिल्मों में भी नजर आए।

भारतीय रंगमंच और सिनेमा में अपनी एक खास पहचान रखने वाली वरिष्ठ कलाकार शौकत आजमी ने 22 नवंबर को 90 साल की उम्र में इस दुनिया से विदा ली। अभिनेत्री शबाना आजमी की मां शौकत के खाते में ‘बाजार’, ‘उमराव जान’ और मीरा नायर की ऑस्कर के लिए नामांकित फिल्म ‘सलाम बॉम्बे’ शामिल हैं।

मराठी रंगमंच के प्रख्यात चेहरे और चरित्र अभिनेता श्रीराम लागू का 17 दिसंबर को 92 साल की उम्र में निधन हो गया। पेशे से ईएनटी सर्जन श्रीराम लागू ने आजादी के बाद रंगमंच के विकास में अपने समकालीन विजय तेंदुलकर, विजया मेहता और अरविंद देशपांडे के साथ योगदान दिया।

मराठी नाटकों ‘नटसम्राट’, ‘हिमालयाची साओली’ और ‘पिंजरा’ के लिए हमेशा याद किए जाने वाले श्रीराम लागू ने ‘एक दिन अचानक’, ‘घरौंदा’ और ‘मुकद्दर का सिकंदर’ फिल्मों में यादगार किरदार निभाए। उन्होंने रिचर्ड एटनबरो की ‘गांधी’ में गोपाल कृष्ण गोखले की भूमिका निभाई थी।

‘रजनीगंधा’ और ‘छोटी सी बात’ फिल्मों में सीधी सादी कामकाजी महिला तथा ‘पति पत्नी और वो’ में मुख्यधारा की नायिका के तौर पर नजर आईं विद्या सिन्हा का 15 अगस्त को 71 साल की उम्र में देहांत हो गया।

करीब चार दशक के अपने करियर में उन्होंने ‘जोश’, ‘लव स्टोरी’, ‘बॉडीगॉर्ड’ जैसी फिल्मों और छोटे पर्दे के ‘काव्यांजलि’, ‘कुबूल है’ तथा ‘कुल्फी कुमार बाजेवाला’ जैसे धारावाहिकों में काम किया।

‘रोटी कपड़ा और मकान’ तथा ‘मि. नटवरलाल’ जैसी फिल्मों के लोकप्रिय एक्शन निर्देशक वीरू देवगन का 27 मई को 77 साल की उम्र में निधन हो गया।

80 से अधिक फिल्मों में काम कर चुके वीरू देवगन ने दिलीप कुमार, धर्मेन्द्र, विनोद खन्ना, राजेश खन्ना और जीतेन्द्र सहित कई बड़े सितारों के लिए स्टन्ट किया।

‘शोले’ फिल्म में कालिया और ‘अंदाज अपना अपना’ में रॉबर्ट का यादगार किरदार निभाने वाले वीजू खोटे का 30 सितंबर को 77 साल की उम्र में निधन हो गया।

उन्होंने ‘कयामत से कयामत तक’, ‘वेन्टीलेटर’ फिल्मों के अलावा टीवी धारावाहिक ‘जबान संभाल के’ में भी काम किया था।

‘पुरानी हवेली’ और ‘तहखाना’ जैसी हॉरर फिल्में बनाने वाल सात रामसे बंधुओं में से एक श्याम रामसे का 67 साल की उम्र मे 18 सितंबर को निधन हो गया।

श्याम रामसे ने ‘बंद दरवाजा’ और ‘वीराना’ सहित 30 से अधिक फिल्मों का निर्देशन किया और टीवी सीरीज ‘जी हॉरर शो’ बनाया था।

‘लक्ष्य’, ‘अंदाज’ और ‘काल’ फिल्मों में नजर आए कुशल पंजाबी 27 सितंबर को अपने मुंबई स्थित आवास में मृत पाए गए। 42 वर्षीय इस कलाकार को ‘पहला नशा’ सहित कई म्यूजिक वीडियो में और डीजे अकील के ‘कह दूं तुम्हें’ गीत के रूपांतरित संस्करण में भी देखा गया।


 

DO NOT MISS